मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी भुजबल की जमानत अर्जी पर हुई सुनवाई

मुंबई : महाराष्ट्र सदन घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में पकड़े गए पूर्व उपमुख्यमंत्री छगन भुजबल को मेडिकल बोर्ड के सामने पेश होने के निर्देश दिए गए हैं। दरअसल पूर्व मंत्री छगन भुजबल ने अपनी याचिका में खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया था। मेडिकल के आधार पर उनके द्वारा अंशकालिक जमानत की मांग भी उनके द्वारा की गई।

दरअसल यह कहा गया कि उन्हें अस्थमा, मधुमेह, हृदय रोग आदि कई बीमारियों ने घेर रखा है। ऐसे में उन्हें जमानत मिलना चाहिए। छगन भुजबल की ओर से वरिष्ठ एडव्होकेट अमित देसाई की दलील थी उन्होंने आवेदन में विभिन्न तथ्यों को लेकर जानकारी दी थी।

इस मामले में अवकाशकालीन न्यायमूर्ति एएस गडकरी ने सुनवाई करते हुए कहा है कि पूर्व मंत्री भुजबल को 24 कई की प्रातः 11 बजे भुजबल को जेजे अस्पताल के मेडिकल बोर्ड के सामने पेश किया जाए। इस मामले में मेडिकल बोर्ड को 27 मई को अदालत में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा। इस मामले में न्यायमूर्ति ने स्पष्ट कर दिया कि बोर्ड भुजबल की मेडिकल डिटेल्स देख सकता है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -