नक़ल रोकने आए उड़नदस्ते ने उतरवाए विद्यार्थियों के कपड़े, शर्मिंदगी में छात्रा ने की ख़ुदकुशी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के जशपुर में बोर्ड परीक्षाओं में नकल पर रोक लगाने वाले उड़नदस्ता टीम द्वारा छात्र छात्राओं के कपड़े उतरवाकर तलाशी लिए जाने का मामला सामने आया है. यह मामला जशपुर के बगीचा विकासखंड के पंडरापाठ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का बताया जा रहा है, जहां 10 बोर्ड का परीक्षा केंद्र बनाया गया है. 1 मार्च को 10 वीं बोर्ड की परीक्षा में नकल की जांच करने के लिए जिले की उड़नदस्ता टीम परीक्षा केंद्र गई थी, जहां छात्र छात्राओं को अलग कमरे में ले जाकर उनके कपड़े उतरवा कर तलाशी ली गई. 

पीएम मोदी ने लांच किया 20 रुपए का सिक्का, जानिए क्या है विशेषता

अपने साथ परीक्षा दे रही छात्राओं से इस तरह की हरकत किए जाने से व्यथित 10वीं की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. वहीं एक छात्र पर रेस्टीकेशन की कार्रवाई भी की गई. इस जांच प्रक्रिया में छात्र छात्राओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, वहीं उनका समय भी बर्बाद हुआ. इस जांच के बाद स्कूली बच्चे काफी सहमे हुए हैं. जिस छात्रा ने आत्महत्या की है वह विशिष्ट पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा परिवार से बताई जा रही है. परिवार के लोग इस मामले में कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए हैं.

ये हैं देश की सबसे युवा पंचायत प्रधान, जिन्होंने लागू की शराबबंदी, पीएम मोदी कर चुके हैं सम्मानित

इस मामले का खुलासा उस समय हुआ जब पिछले 4 मार्च को 10 वीं की परीक्षा लिख रही छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतका ने अपने भाई को स्कूल की घटना के बारे में बता दिया था. जिसके बाद जांच प्रक्रिया से गुजरने वाले छात्र -छात्राओं ने इस पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी. छात्र छात्राओं के साथ स्कूल के शिक्षकों ने भी कपड़े उतरवाकर तलाशी लिए जाने के मामले में आपत्ति जताई है.  

खबरें और भी:-

आखिर क्यों 8 मार्च को ही मनाते हैं 'अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस'

भारतीय शेयर बाजार में आई जबरदस्त बढ़त, रुपए में भी दिखी मजबूती

85,000 रु प्रतिमाह वेतन, National Seeds Corporation Limited में वैकेंसी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -