चारधाम यात्रा: 6 नवंबर को केदारनाथ और 20 को बंद होंगे बदरीनाथ के कपाट

नई दिल्ली: चार धामों में से एक केदारनाथ धाम के कपाट छह नवंबर को बंद होंगे. वहीं 20 नवंबर को बद्रीनाथ धाम के कपाट भी बंद होंगे. उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने शुक्रवार को इस संबंध में जानकारी दी है. वहीं भारी बारिश की वजह से प्रशासन ने चारधाम यात्रा को रोक दिया था, मौसम खुलने के बाद एक बार पुनः चारधाम यात्रा आरंभ कर दी गई है.

मौसम सामान्य होते ही चारधाम यात्रा ने रफ्तार पकड़ ली है. बुधवार से केदारनाथ धाम यात्रा भी शुरू हो गई है. दो दिन बाद मौसम साफ होने के बाद केदारनाथ धाम के लिए हेली सेवा शुरू कर दी गई है. बीते बुधवार से गुप्तकाशी, सिरसी और फाटा हेलीपैड से सात हेली कंपनियों के हेलीकॉप्टर उड़ान भरते नज़र आए. 18 और 19 अक्तूबर को जिन श्रद्धालुओं ने हेली टिकटों की बुकिंग कराई थी. पहले उन्हें केदारनाथ भेजा गया. अब तक तक़रीबन 14 हजार तीर्थ यात्रियों ने हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंच कर दर्शन किए.

भारी वर्षा के बाद उत्‍तराखंड में मौसम मेहरबान हुआ, तो वापस चारधाम यात्रा प्रारंभ हो गई है. राज्य में मौसम के खुलते ही केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की तीर्थ यात्रा राज्‍य सरकार की तरफ से फिर प्रारंभ कर दी गई है. मौसम विभाग ने राज्य में 17 से 19 अक्टूबर तक भारी बारिश को लेकर चेतावनी दी थी. इस चेतावनी के बाद तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के मद्देनज़र 18 अक्टूबर को चारधाम यात्रा अस्थायी रूप से रोक दी गई थी. बुधवार को केदारनाथ धाम में 4475, गंगोत्री धाम में 1433 और यमुनोत्री धाम में 2444 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए. इस प्रकार कुल 8,352 भक्तों ने चारधाम की यात्रा की.

'भारत पर तरह तरह के सवाल उठ रहे थे', संबोधन में बोले PM मोदी

आंध्र प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 14 हजार से हुई अधिक, जानिए क्या है बीते 24 घंटों का हाल

तिरंगे से जगमगाये 100 स्‍मारक, 100 करोड़ वैक्सीनेशन लगने पर मना उत्सव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -