शनि जयंती पर जरूर करें इन चमत्कारी मंत्रों का जाप, दूर होगी हर समस्या

शनि जयंती पर जरूर करें इन चमत्कारी मंत्रों का जाप, दूर होगी हर समस्या
Share:

इस बार शनि जयंती 6 जून 2024 को मनाई जाएगी। प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि को शनि जयंती मनाई जाती है। भगवान शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है। कहा जाता हैं कि शनि देव की एक नजर किसी को भी राजा से रंक और रंक से राजा बना सकती है। शनि देव की कृपा दृष्टि जिस भी व्यक्ति पर रहती है उसे हर सुख की प्राप्ति होती है। ऐसे मनुष्य जिनकी कुंडली में शनि दोष हैं, वे राशि अनुसार मंत्रों का जाप कर इस पीड़ा से राहत पा सकते हैं। आइये आपको बताते है... 

शनि महामंत्र:-
ऊं निलांजन समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम।
छायामार्तंड संभूतं तं नमामि शनैश्चरम्॥
शनि बीज मंत्र
ऊं प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः।
शनि रोग निवारण मंत्र
ध्वजिनी धामिनी चैव कंकाली कलहप्रिहा।
कंकटी कलही चाउथ तुरंगी महिषी अजा।।
शनैर्नामानि पत्नीनामेतानि संजपन् पुमान्।
दुःखानि नाश्येन्नित्यं सौभाग्यमेधते सुखमं।।

राशि अनुसार शनि मंत्र
मेष: ऊं शांताय नम:
वृष: ऊं वरेण्णाय नम:
मिथुन: ऊं मंदाय नम:
कर्क: ऊं सुंदराय नम:
सिंह: ऊं सूर्यपुत्राय नम:
कन्या: ऊं महनीयगुणात्मने नम:
तुला: ऊं छायापुत्राय नम:
वृश्चिक: ऊं नीलवर्णाय नम:
धनु: ऊं घनसारविलेपाय नम:
मकर: ऊं शर्वाय नम:
कुंभ: ऊं महेशाय नम:
मीन: ऊं सुंदराय नम:

दक्षिण दिशा में भूलकर भी ना रखें ये चीज, घर में कभी नहीं रहेगी बरकत

जून में इन राशियों की बढ़ेगी मुश्किलें, होने जा रहा है नक्षत्र परिवर्तन

ब्राह्मण या गरीब... किसे दान देना है सही?

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -