50वें चीफ जस्टिस बन सकते हैं चंद्रचूड़, CJI यूयू ललित को कानून मंत्रालय ने लिखा पत्र

नई दिल्ली: देश के नए मुख्य न्यायाधीश (CJI) की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, कानून मंत्रालय की तरफ  से मौजूदा CJI यूयू ललित को एक पत्र लिखा गया है। इसमें उनसे उत्तराधिकारी नामित करने के लिए कहा गया है। बता दें कि, नए CJI की नियुक्ति को लेकर यह औपचारिक प्रक्रिया होती है, जो कानून मंत्रालय की तरफ से पत्र लिखकर आरंभ की जाती है। हालांकि माना जा रहा है CJI के बाद शीर्ष अदालत के सबसे वरिष्ठ जज डीवाई चंद्रचूड़ को 50वां मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि, आमतौर पर कानून मंत्रालय की तरफ से मौजूदा CJI को पत्र लिखकर उनसे उत्तराधिकारी नामित करने के लिए कहा जाता है। CJI अपने बाद मौजूद सबसे वरिष्ठ जज को अपने उत्तराधिकारी के तौर पर नामित करते हैं। ऐसे में CJI के बाद न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ ही सबसे वरिष्ठ जज हैं। यदि यह प्रक्रिया पारंपरिक रूप से संपन्न होती है, तो जस्टिस चंद्रचूड़ को ही नया CJI नियुक्त किया जा सकता है। बता दें कि मौजूदा CJI यूयू ललित 8 नवंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

बता दें कि न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की शीर्ष अदालत में जज के पद पर नियुक्ति 13 मई, 2016 को हुई थी। उससे पहले वह 31 अक्टूबर, 2013 से 13 मई, 2016 तक इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के पद पर नियुक्त रहे थे। उससे पहले डीवाई चंद्रचूड़ बॉम्बे उच्च न्यायालय के भी जज रहे हैं। 1998 से लेकर 29 मार्च, 2000 तक चंद्रचूड़ एडिशनल सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया के पद भी रहे हैं। उन्हें जून, 1998 में बॉम्बे हाईकोर्ट की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता की उपाधि दी गई थी। उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से इकोनॉमिक्स में बीए ऑनर्स किया था। इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से LLB की डिग्री हासिल की थी। उन्होंने अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से LLM और जूडिशियल साइंसेज में डॉक्टरेट की पढ़ाई की थी।

'अगर फव्वारा है तो कार्बन डेटिंग करा लो..', ज्ञानवापी शिवलिंग पर फैसला आज

दिल्ली शराब घोटाले के मामले में 35 ठिकानों पर ED का छापा, मनीष सिसोदिया हैं मुख्य आरोपी

इतिहास के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा रुपया, रोजगार से लेकर व्यापार तक पर पड़ेगा प्रभाव

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -