चंद्र ग्रहण: शंख से करें यह उपाय, घर में आएगा इतना धन कि संभाल नहीं पाएंगे

साल का पहला चंद्र 16 मई को लगने जा रहा है। जी हाँ और आपको हम यह भी बता दें कि यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा और इसका सूतक काल भी मान्‍य नहीं होगा। वैसे तो सूतक काल में कई काम करने की मनाही होती है, और अगर वह काम कर लिए जाएं तो ग्रहण का नकारात्‍मक असर जीवन पर बुरा प्रभाव डालता है। हालाँकि चंद्र ग्रहण के दिन मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के लिए अच्‍छा मौका होता है। अगर इस दिन कुछ खास उपाय कर लिए जाएं तो पैसे से जुड़ी सारी समस्‍याएं खत्‍म हो सकती हैं। आज हम आपको एक उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं।

चंद्र ग्रहण के दौरान करें मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न- चंद्र ग्रहण लगने से पहले स्‍नान करके पीले कपड़े पहन लें। उसके बाद उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठें। अब एक थाली में केसर से स्‍वास्तिक या ऊं बनाकर उसे चौकी पर रखें, फिर इस पर महालक्ष्मी यंत्र स्थापित करें। अब उसके बाद एक अन्‍य थाली में शंख स्‍थापित करें। इसके बाद शंख में केसर से रंगे एक मुट्ठी चावल डालें। अब घी का एक दीपक जलाएं और फिर स्फटिक की माला से 'सिद्धि बुद्धि प्रदे देवि भुक्ति मुक्ति प्रदायिनी। 'मंत्र-पुते सदा देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते' का जाप करें। वहीं चंद्र ग्रहण जब खत्‍म हो जाए तो इस पूरी सामग्री को नदी या तालाब या बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस उपाय को करने से मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न किया जा सकता है और धन प्राप्ति भी होती है।

चंद्र ग्रहण का समय- 16 मई का चंद्र ग्रहण भारत में सुबह 8:59 बजे से 10:23 बजे तक रहेगा। जी हाँ और यह पूर्ण चंद्र ग्रहण है लेकिन यह भारत में दिखाई नहीं देगा। इस वजह से इसका सूतक काल नहीं माना जाएगा। यह चंद्र ग्रहण यूरोप और अफ्रीका के कुछ हिस्सों के अलावा दक्षिण अमेरिका व उत्तरी अमेरिका के पूर्वी हिस्सों में दिखाई देगा। जी हाँ और इसके बाद अगला चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को लगेगा।

इन 7 राशि वालों पर भारी पड़ेगा 16 मई का चंद्रग्रहण

इन 4 राशि वालों को मिलेगा चंद्रग्रहण का फायदा

16 मई को है पूर्ण चंद्र ग्रहण, जानिए भारत में क्या पड़ेगा असर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -