आज इस विधि से करें मां चंद्रघंटा की पूजा, लगाए यह भोग

Apr 08 2019 09:00 AM
आज इस विधि से करें मां चंद्रघंटा की पूजा, लगाए यह भोग

आप सभी जानते ही हैं कि नवरात्रि प्रारम्भ हो चुकी है. ऐसे में नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है और व्रत रखते हैं. आप सभी को बता दें कि मां के इस रूप की सच्चे मन से पूजा करने से रोग दूर होते हैं, शत्रुओं से भय नहीं होता और लंबी आयु का वरदान मिलता है. कहा जाता है माँ आध्यात्मिक शक्ति, आत्मविश्वास और मन पर नियंत्रण भी बढ़ाती हैं. ऐसे में आप सभी को बता दें कि मां चंद्रघंटा शेर पर सवारी करती हैं और इनके दसों हाथों में अस्त्र-शस्त्र हैं इसी के साथ मां के माथे पर चंद्रमा विराजमान है जो उनका रूप और सुंदर बनाता है. कहते हैं इस दिन मणिपुर चक्र को प्रबल करने के लिए साधना की जाती है और मन, कर्म, वचन शुद्ध करके पूजा करने वालों के सब पाप खत्म हो जाते हैं. तो आइए जानते हैं कैसे करें इनकी पूजा. 

पूजा विधि - इस दिन मां को केसर और केवड़ा जल से स्नान करायें और मां को सुनहरे या भूरे रंग के वस्त्र पहनाएं और खुद भी इसी रंग के वस्त्र पहनें. इसी के साथ केसर-दूध से बनी मिठाइयों का भोग लगाएं और मां को सफेद कमल और पीले गुलाब की माला अर्पण करें. आज माँ को पंचामृत, चीनी व मिश्री का भोग लगाएं. इसी के साथ मां का आर्शीवाद पाने के लिए इस मंत्र का 108 बार जाप करने से फायदा मिलेगा.

"या देवी सर्वभूतेषु मां चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नमः।"

नवरात्रि के 9 दिन करें इस एक मंत्र का जाप, आखिरी दिन तक हो जाएंगे मालामाल

आज माँ शैलपुत्री को खुश करने के लिए जरूर गाये यह आरती

इस तरह से करें माँ शैलपुत्री की पूजा, भोग में अर्पित करें यह चीज़