सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखें इन बातों का ध्यान, नहीं बढ़ेगी परेशानी

सिजेरियन डिलीवरी के बाद रखें इन बातों का ध्यान, नहीं बढ़ेगी परेशानी

नए जीवन को जन्म देने का सुखद होता है, यानि माँ बनना हर किसी के लिए खास होता है. गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई परेशानियों का सामान करना पड़ता हैं, फिर भी वे खुश होती हैं. बहुत बार बच्चों की डिलीवरी दो अलग तरहों से होती है. यानि बच्चों के जन्म के समय दो प्रक्रिया होता है और जैसी भी स्थिति रहती है उसके अनुसार प्रक्रिया को चुना जाता है. बता दें, ये तरीके होते हैं नॉर्मल और सिजेरियन. आजकल की ख़राब जीवनशैली के कारण अधिकांश डिलीवरी सिजेरियन होने लगी हैं. ऐसे कई केस आपने देखे होंगे जो सिजेरियन होते हैं और इसमें बहुत ही ध्यान रखना पड़ता है. आज हम आपको वो काम बताने जा रहे हैं जो सिजेरियन डिलीवरी के बाद नहीं करने चाहिए.

* पेट पर ज्यादा दवाब डालना
जिन महिलाओं ने सिजेरियन के द्वारा बच्चे को जन्म दिया है, उन्हें यह सुझाव दिया जाता है कि वह अपने पेट पर दवाब बिल्कुल ना डाले. ऐसा करने से सुजन और धागे खुलने की नौबत आ जाती है. ऐसे में किसी भी काम को ना करें जो आपके पेट पर दवाब डाल रहा हो.

* वर्कआउट ना करें
अगर आपने भी सिजेरियन के द्वारा अपने बच्चे को जन्म दिया है तो आपको वर्कआउट से बचना चाहिए. इसके अलावा आपको अपने पेट पर ज्यादा भार नहीं डालना चाहिए. ऐसा करने से धागो पर खिंचवा हो सकता है. यहां तक की ब्लीडिंग की समस्या भी सामने आ सकती है. इसलिए इस दौरान वर्कआउट और भारी समान कम उठाएं.

* सेक्स करने से बचें
सिजेरियन द्वारा बच्चे को जन्म देने वाली मां को कम से कम दो महीने तक सेक्स करने से बचना चाहिए. इस दौरान कम से कम सेक्स करने की कोशिश करें.  

* तेल और मसालेदार चीजों का सेवन ना करें
सिजेरियन के बाद जल्दी से रिकवरी के लिए मसालेदार और तेल से बनी खाद्य पदार्थों का सेवन करना बंद कर दें. मसालेदार खाद्य पदार्थों से आपका शरीर जल्दी रिकवरी नहीं कर पाता.  

* लंबे समय तक ना नहाए
वह महिलाएं जिन्होंने सिजेरियन के जरिए बच्चे को जन्म दिया है, उन्हें लंबे समय तक नहीं नहाना चाहिए. पानी में कम समय तक ही रहे और शरीर को सुखाने के लिए वाइप्स का इस्तेमाल करें.

सफ़ेद पानी की समस्या को दूर करता है सिंघाड़ा

चेस्ट पैन होने पर ना करें इग्नोर, तुरंत अपनाएं ये टिप्स

गुणों का भंडार है कुल्हड़, सेहत को होते हैं कई लाभ