इस कारण होता है सर्वाइकल पैन, जानें बचने के उपाय

सर्वाइकल पैन आजकल हर दूसरे वयक्ति को हो रहा है. इसका कारण बदलता लाइफस्टाइल है. घंटों एक ही जगह पर बैठकर काम करना और लगातार एक ही चीज पर नजर टिकाए रखने वाले लोगों में यह परेशानी हो ही जाती है. गर्दन के इस दर्द को 'सर्वाइकल स्पांडिलाइटिस' कहा जाता है. यह दर्द गर्दन के पीछले हिस्से से शुरू होकर कंधों और बाजू तक जाता है. इस समस्या के बढ़ने से दर्द रीढ़ की हड्डी तक भी पहुंचता है अगर फिर भी स्थिति की तरफ ध्यान न दिया जाए तो दर्द पैरों के अंगूठे तक पहुंच जाता है. इसी के साथ बता देते हैं  किन लोगों को होता है सर्वाइकल पैन.

जिन लोगो की बैठने की पॉजीशन सही न हो वे इस दर्द बहुत जल्दी शिकार हो जाते हैं. गर्दन झुकाकर काम करने से गर्दन के पीछले हिस्से में ऐंठन शुरू हो जाती है. इसके लिए जरुरी बीच-बीच में आराम करें. इतना ही नहीं सोते समय ऊंचा तकिया लेकर सोना भी सर्वाइकल का कारण बनता है. 

* ऑस्टियोआर्थराइटिस : यह जोड़ों का दर्द है, इसमें हड्डियों को स्पोर्ट करने वाले ऊतक का टूटना शुरू हो जाते हैं. जो सर्वाइकल दर्द का कारण है.

* रीढ़ की हड्डी में चोट : रीढ़ की हड्डी में चोट लगने से भी सर्वाइकल दर्द होने लगती है. 

* ख़राब लाइफस्टाइल : जो लोग शारीरिक श्रम नहीं करते उन्हें सर्वाइकल जैसी समस्याएं होना आम है. 

इससे बचने के लिए :

* एक लीटर पानी में आधा चम्मच नमक डालकर उबाल लें. बोतल में यह पानी डालकर इससे सिंकाई करें. ध्यान रखें कि पानी बहुत ज्यादा गर्म न हो. 

* खाली पेट पानी के साथ एक कली लहसुन का सेवन करें. इसके अलावा खाने में लहसुन का इस्तेमाल करें. इसके एंटीबैक्टीरियल गुण दर्द को कम करने में मदद करते हैं. लहसुन के तेल से मसाज करने से भी फायदा मिलता है.

अनानास से झट से घटेगा वजन, अपनाये ट्रिक

बदलते मौसम में खुद को सर्दी जुखाम से ऐसे बचाएँ

नाईट शिफ्ट में काम करते हैं तो सेहत को हो सकता है नुकसान, ध्यान रखें इन बातों का

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -