मोदी सरकार ने नहीं लिया यूटर्न, हवाबाजी नहीं कर रही सरकार : स्मृति ईरानी

मोदी सरकार ने नहीं लिया यूटर्न, हवाबाजी नहीं कर रही सरकार : स्मृति ईरानी

नई दिल्ली : अखिल भारतीय कांग्रेस द्वारा आज कार्यसमिति की बैठक आयोजित की गई। जिसमें कांग्रेस द्वारा वर्तमान में कार्यरत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार को कोसा गया और इसे अपने वादों से यूटर्न लेने वाली सरकार कहा गया। जिसके उत्तर में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने अपना स्पष्टीकरण देते हुए भ्रष्टाचार और उदासीना के मसले पर पूर्ववर्ती यूपीए सरकार को घेरा। इस दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि मोदी सरकार काम करने वाली सरकार है। वर्तमान में कार्यरत राष्ट्रीय जनतात्रिक गठबंधन सरकार ने संघर्ष किया है। कांग्रेस अपने नेतृत्व के असफल होने की बात को उजागर होने से बचने का प्रयास राज्य सभा में किया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विरोधी हमलों का सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ता। 

उन्होंने कहा संवैधानिक पद की गरीमा को समझते हुए बड़े ही दुख के साथ चुप रही हूं। हवाबाजी का आरोप लगाने वाले कांग्रेस के नेताओं को समझना होगा कि पूर्व सैनिकों की वन रैंक वन पेंशन की 40 वर्ष से भी पुरानी मांग पर कोई बयान न देना उनकी हवाबाजी रही। नरेंद्र मोदी की सरकार इसे निर्णय में बदलने में सफल रही।

उन्होंने कहा कि 15 माह के कार्यकाल में राजग सरकार ने कोयले की नीलामी से सरकारी खजाने को करोड़ों से भरा है तो 1 लाख 10 हजार करोड़ से ज़्यादा की स्पेक्ट्रम नीलामी से खजाना भरा गया। जो कांग्रेस भूमि अधिग्रहण बिल पर सवाल उठा रही है मगर पूर्ववर्ती सरकार द्वारा कांग्रेस उपाध्यक्ष के अपने संसदीय क्षेत्र में ही किसानों की जमीन हड़प ली गई।

यही नहीं पारिवारिक ट्रस्ट के लिए जमीनें खरीदी गई। केंद्रीय मत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस सरकार के कामों को हवाबाजी न कहे। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक में सोनिया गांधी ने एनडीए सरकार के कार्यों की आलोचना करते हुए उसे भूमि अधिग्रहण बिल के साथ ही अपने अन्य वादों से यूटर्न लेने वाली सरकार बताया था। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण बिल केंद्र सरकार की हवाबाजी करने का प्रमाण है।