सरकार ने तैयार किया ऐसा प्लान, जिससे देशी गाय विदेशियों को भी देगी मात

सरकार ने तैयार किया ऐसा प्लान, जिससे देशी गाय विदेशियों को भी देगी मात

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहा है कि वह स्वदेशी प्रजातियों के गोवंश के संरक्षण के लिए तेजी से कार्य कर रही है और आगामी पांच वर्ष में भारतीय प्रजातियों की गायें किसी भी अन्य विदेशी प्रजाति की गायों से उच्च स्तर पर पहुंच जाएंगी. केंद्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने प्रश्नकाल के दौरान कहा है कि सरकार राष्ट्रीय गोकुल मिशन के जरिए देसी नस्लों के विकास और संरक्षण के मकसद से काम कर रही है. 

उन्होंने रवि किशन के पूरक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा है कि पशुपालन राज्य का विषय है और यूपी जैसे राज्य आश्रय गृह खोलकर लाखों की तादाद में गोवंश को संरक्षण प्रदान कर रहे हैं. गिरिराज ने कहा कि, गत पांच वर्षों में केंद्र सरकार ने गोकुल मिशन के तहत देसी प्रजातियों के पशुओं के संरक्षण का कार्य किया है. उन्होंने भरोसा जताया है कि आगामी पांच वर्षों में हमारी स्वेदशी नस्लों की गायें देश में किसी भी अन्य विदेशी प्रजाति की गायों से उच्च स्तर पर पहुंच जाएंगी.

गिरिराज सिंह ने कहा है कि सेक्स्ड सीमन के इस्तेमाल से नर बछड़ों के जन्म लेने की संभावना को हटाकर बछियों के प्रजनन के लिए सुविधा मुहैया कराई जा रही है. उन्होंने कहा कि भ्रूण प्रतिरोपण के जरिए भी यह काम किया जा सकेगा और इसके लिए वर्तमान में 30 केंद्र संचालित किये जा रहे हैं.

आज पीएम मोदी लेंगे कैबिनेट की बैठक, NIA बनेगा और भी अधिक ताक़तवर

RBI डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने दिया इस्तीफा, 6 महीने बाद ख़त्म होने वाला था कार्यकाल

योग दिवस पर ट्वीट करके बुरे फंसे राहुल गाँधी, दर्ज हुई शिकायत