त्योहारों के बीच कोरोना वायरस को लेकर केंद्र ने किया राज्यों को सतर्क

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का कहर अभी थमा नहीं है। इसी को देखते हुए केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि कोरोना महामारी के मद्देनजर आने वाले त्योहारों को लोग 'अत्यधिक सावधानियों' व और सुरक्षित तरीके से मनाएं। हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखा। इस पत्र में कहा गया कि, 'कोविड-19 मामलों में किसी भी तरह के वृद्धि पर काबू के लिए पिछले महीने जारी किए गए दिशानिर्देशों (SOPs) का पालन किया जाना चाहिए।'

आपको हम पहले ही यह बता दें कि स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये वैक्सीनेशन और कोरोना के मौजूदा हालात की समीक्षा की थी। जी दरअसल राजेश भूषण ने अपने पत्र में लिखा है, 'निषिद्ध क्षेत्रों के रूप में पहचाने जाने वाले इलाकों और पांच फीसद से अधिक संक्रमण दर वाले जिलों में किसी भी सामूहिक आयोजन की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।' इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा, 'त्योहारों के दौरान सावधानी बरतने के लिए संबंधित राज्य सरकारों द्वारा पर्याप्त रूप से पहले ही आवश्यक निर्देश जारी किए जाने चाहिए। कोरोना संबंधी उपयुक्त व्यवहार के उल्लंघन के मामले में दंडात्मक कार्रवाई भी की जानी चाहिए।'

वहीं केंद्र ने यह भी कहा कि, 'यह अहम है कि जिला स्वास्थ्य अधिकारी स्थानीय मामलों की संख्या पर कड़ी नजर रखें और स्वास्थ्य मंत्रालय और गृह मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी परामर्श के आधार पर समय पर तथा सख्ती से हस्तक्षेप करें।' आगे यह भी कहा गया है कि बीते माह चिकित्‍सा विशेषज्ञों ने त्योहारों के मौसम में लापरवाही के कारण कोरोना की तीसरी लहर का अंदेशा जताया था। इसी के साथ विशेषज्ञों ने इस दौरान लगने वाली लोगों की भीड़ पर रोक लगाने को लेकर सख्‍त कदम उठाए जाने का सुझाव भी दिया।

जानिए आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व पोलियो दिवस?

UP में मिला जीका वायरस का पहला मामला

कोरोना की चपेट में आए राज ठाकरे और परिवार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -