कटाक्ष : सेलिब्रिटी बनाम अपराध

Aug 04 2018 06:40 PM
कटाक्ष : सेलिब्रिटी बनाम अपराध

हमारे एक मित्र हैं, बेचारे बेहद सीधे—साधे। उनका एक बेटा भी है, जो नाम कमाना चाहता है। वह चाहता है कि उसे पूरी दुनिया जाने और इसके लिए वह खूब मन लगाकर पढ़ाई भी कर रहा है। एक दिन मित्र अपने बेटे को लेकर हमारे  पास आए और बोले इसे जब देखो तब नाम कमाने की धुन सवार रहती है, खूब  मेहनत कर रहा है, लेकिन बेचारे को मोहल्ले वाले तक नहीं जानते, इसलिए दुखी है कि कोई नहीं जानता, कैसे यह नाम कमाएगा, कैसे लोग इसे जानेंगे। 
हमने उससे पूछा, बेटा पढ़कर कुछ बनना चाहते हो या फिर केवल नाम कमाना तुम्हारा मकसद है। झट से बोला, मुझे तो नाम कमाना है, सेलिब्रिटी बनना है। पापा ने कहा पढ़ाई से बनोगे, तो मैं खूब पढ़ाई भी करता हूं। मैंने उससे कहा, सेलिब्रिटी बनना है सलमान खान, संजय दत्त की तरह, तो बोला हां उन्हीं की तरह। तब मैंने उसे कहा कि अपनी किताब को  फेंक दो और किसी को जाकर थप्पड़ मार दो। गाड़ी चलाते हो, तो फुटपाथ पर सोये हुए लोगों पर चढ़ा दो, फिर देखो कैसे सेलिब्रिटी बन जाते हो। वो बोला कैसे?
  मैंने कहा देखो, सलमान ने काले हिरण का शिकार किया, लेकिन जेल नहीं गए? फुटपाथ पर गाड़ी चढ़ा दी, लेकिन जेल नहीं गए। संजय दत्त जेल गए, लेकिन उन पर बनी फिल्म ने देखो 350 करोड़ कमा ​लिए। अब अगर ये पढ़ाई करते, तो कैसे नाम कमाते? सो पढ़ाई छोड़ो और अपराध में हाथ अजमाओ, उसमें बहुत स्कोप है। अरे हीरो तो छोड़ो, नेता बन गए, तो फिर क्या कहने? न पकड़े  जाने का डर और न जेल जाने का। अब  पप्पू  यादव, आजम खान, राजा भैया को देख लो, कितने नामजद अपराध इन पर दर्ज हैं, लेकिन हैं न सेलिब्रिटी। लगता है लड़के को बात समझ आ गई और सुना है वह अब ​किसी गैंग में शामिल हो गया है, ताकि अपने सेलिब्रिटी बनने का सपना पूरा कर सके।

तीखे बोल : 

कटाक्ष: ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे...

कटाक्ष: बंट रहा है ज्ञान ले लो फ्री में...

कटाक्ष: हम तो चले परदेश....

?