सीबीआई मामला: आलोक वर्मा ने जस्टिस पटनायक के सामने किया बड़ा खुलासा

Jan 13 2019 04:36 PM
सीबीआई मामला: आलोक वर्मा ने जस्टिस पटनायक के सामने किया बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: अपने औपचारिक सबमिशन में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक आलोक कुमार वर्मा ने न्यायाधीश ए के पटनायक को जानकारी देते हुए बताया है कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के केवी चौधरी 6 अक्टूबर को उनके घर पर सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के लिए पैरोकारी करने आए थे.

दो कमरों में चलने वाली पार्टी आज कर रही है महाधिवेशन, ये हमारी लिए गर्व की बात - पीएम मोदी

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक यह 23 दिन पूर्व हुआ था, जब आलोक वर्मा को 23-24 अक्टूबर की आधी रात्रि को एक आदेश के माध्यम से अवकाश पर भेज दिया गया था. उल्लेखनीय है कि ए के पटनायक सीवीसी द्वारा की जा रही जांच का निरीक्षण करने वाले शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त जज हैं. बैठक का वर्णन करते हुए आलोक वर्मा ने अपने सबमिशन में जानकारी देते हुए कहा है कि चौधरी ने अस्थाना की एनुअल परफॉर्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट के संबंध में बताया है.

अब बेकार नहीं जाएंगे आपके कटे-फटे नोट, इस तरह करें उनका उपयोग

इस रिपोर्ट पर आलोक वर्मा द्वारा हस्ताक्षर किए थे. बातचीत का दौर एक घंटे से भी ज्यादा समय तक चला था. सबमिशन में हालांकि चौधरी और उनके दो साथी आयुक्त, टी एम भसिन और शरद कुमार का उल्लेख था, किन्तु इसमें सीवीसी द्वारा 12 नवंबर को शीर्ष अदालत को सौंपी गई 53 पेज की रिपोर्ट का कोई जिक्र नहीं किया गया था. इस रिपोर्ट के कारण ही आलोक वर्मा 10 जनवरी को पीएम मोदी वाली चयन समिति द्वारा दूसरी बार सीबीआई निदेशक के पद से हटाया गया था.

खबरें और भी:-

 

भाजपा महाधिवेशन में पीएम मोदी ने भरी हुंकार, कहा भ्रष्टाचार में लिप्त थी पूर्व सरकार

प्रोजेक्ट एसोसिएट करें अप्लाई, नेशनल इंस्टीट्यूट में निकली वैकेंसी

35 हजार रु सैलरी, 10वीं-12वीं पास के लिए नौकरियां