कोस्त्रो के नाम पर नहीं रखा जाएगा सड़कों का नाम

सैंटियागो। क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो द्वारा कहा गया है कि उनके भाई फिदेल कास्त्रो की मृत्यु के बाद सरकार उनके नाम पर सड़कों और सार्वजनिक स्मारकों का नाम करण नहीं करेगी। दरअसल महत्वपूर्ण नेता फिदेल कास्त्रो इस तरह की कोई भी परिपाटी निर्मित करना नहीं चाहते थे। क्यूबा के लोग राष्ट्रपति के छोटे भाई को श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़े थे।

इस दौरान राउल कास्त्रो ने कहा कि इस मामले में नेशनल असेंबली अगले सत्र में कानून पारित करेगी। उनका कहना था कि उनके भाई यह चाहते थे कि मृत्यु के बाद उनके नाम या उनकी पसंद का उपयोग किसी संस्थान, सड़क पार्क या फिर सार्वजनिक स्थान का नाम रखने के लिए न हो। इतना ही नहीं कास्त्रो की किसी भी तरह की मूर्ति के साथ उनका कोई स्मारक न बने।

गौरतलब है कि विद्रोही कैमिलो सीनफ्यूगस और अर्नेस्टो चे ग्वेरा की तस्वीर उनकी मौत के दशक बाद भी क्यूबा में दिखाई देती है। जिसे लेकर अक्सर चर्चा की जाती है। फिदेल कास्त्रो ने 90 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस ली। दरअसल कास्त्रो की अस्थियां सेंटियागो पहुंची। अस्थियों के पहुंचने के ही साथ चार दिवसीय अंतिम यात्रा कार्यक्रम भी समाप्त हो गया।

इस दौरान बालीविया के राष्ट्रपति इवो मोरालेस, निकारागुआ के नेता डेनियल ओर्टेगा, वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो, ब्राजील के दो पूर्व राष्ट्रपति डिल्मा राउसेफ और लूला दा सिल्वा मौजूद रहे। गौरतलब है कि कास्त्रो की अस्थियों को इफिगेनिया के कब्रिस्तान में ले जाया जाएगा और परंपरागत विधियों के बाद शोक का तय समय समाप्त हो जाएगा।

फिदेल कास्त्रो आज क्यूबा में होंगे सुपुर्दे ख़ाक

डोनाल्ड ट्रंप ने क्यूबा को किया ख़बरदार

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -