अलीगढ़ के खिलाफ केस दर्ज, 29 फरवरी को होगी सुनवाई

अलीगढ़ के खिलाफ केस दर्ज, 29 फरवरी को होगी सुनवाई

कल हंसल मेहता के निर्देशन में बनी फिल्म अलीगढ़ रिलीज हुई है जिसे फ़िल्मी जानकारों द्वारा खूब सराहा जा रहा है. फिल्म हर तरफ से वाह वाही लूट रही है. लेकिन फिल्म अब विवादों में भी आ गयी है. दरअसल फिल्म की कहानी को जिस रिक्शा चालक और प्रोफ़ेसर के सम्बन्धो के ऊपर बुना गया है अब उसी रिक्शा चालक ने फिल्म पर सवाल उठाये है. और उनसे अब फिल्म को अदालत में चुनौती भी दे दी है. और अब इस पर 29 फरवरी को सुनवाई की जाएगी.

इतना ही नहीं इस सम्बन्ध में सूचना प्रसारण मंत्रालय के सचिव, फिल्म सेंसर बोर्ड और निर्देशक हंसल मेहता को नोटिस भेजा गया है. और हंस मेहता की फिल्म के खिलाफ इस सारे घटनाक्रम से जुड़े लोगो ने उच्च न्यायलय में मुकदमा दायर किया है. इतना ही नहीं आदिल मुर्तजा बनाम हंसल मेहता एवं अन्य के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 156(3) के तहत एफआईआर दर्ज कराने के लिए सिविल कोर्ट में भी वाद दायर किया गया है.

आपको बता दे कि मनोज बाजपेयी फिल्म में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मराठी भाषा के प्रोफेसर सिरस की भूमिका में है. आपको बता दे कि प्रोफ़ेसर सिरस एक रिक्शा चालक से समलैंगिक संबंध स्थापित करते थे. रिक्शा चालक ने कहा कि वह समलैंगिक नहीं है. प्रोफेसर जबरन गलत हरकत करते थे और उसके मना करने पर चोरी के इल्जाम में फंसाने की धमकी देते थे. रिक्शा चालक ने कहा, 'मेरे परिवार में मेरी पत्नी और पांच बच्चे हैं, और मैं प्रोफेसर साहब की प्रवृत्ति का व्यक्ति नहीं हूं.