12वीं के बाद करें ये कोर्स, करियर में मिलेगी सफलता

12वीं के पश्चात् करियर विकल्प को लेकर परेशान होने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है। ऐसे कई बेहतरीन करियर विकल्प हैं, जहां आप 12वीं के पश्चात् अपना करियर संवार सकते हैं। भारत में ऑक्युपेशनल थेरेपी का आरम्भ वर्ष 1950 में हुआ था किन्तु यहां अब भी इसे लेकर अधिक जागरूकता नहीं है। यदि आप चाहें तो ऑक्युपेशनल थेरेपी का कोर्स करके विदेश तक जा सकते हैं। ऑक्यूपेशनल थेरेपी का संबंध शारीरिक तथा मानसिक तौर पर दिव्यांग लोगों की देखभाल करने से जुड़ा हुआ है। 

कोर्स के बाद यहां मिलेंगे अवसर:-
ऑक्यूपेशनल थेरेपी कोर्स में प्रवेश के लिए बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री विषयों के साथ 12वीं उत्तीर्ण होना आवश्यक है। ऑक्यूपेशनल थेरेपी चार वर्ष का डिग्री कोर्स है। इसमें 6 माह की इंटर्नशिप भी अनिवार्य है। बैचलर डिग्री करने के पश्चात् मास्टर डिग्री एवं डॉक्टरल डिग्री भी कर सकते हैं। पीडियाट्रिक्स, न्यूरोसाइंसेस, मेंटल हेल्थ, कम्युनिटी रीहैबिलिटेशन में मास्टर्स डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। सरकारी संस्था, प्राइवेट संस्था, स्कूल, डे केयर सेंटर में ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट की बहुत मांग है।

इन कोर्स से बनेगी बात:-
बीएससी इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी (ऑनर्स)
बीएससी इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी
बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी
डिप्लोमा इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी
एमएससी इन फिजिकल एंड ऑक्यूपेशनल थेरेपी
मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी

इन पदों पर मिल सकता है काम:-
यह कोर्स करने के पश्चात् ऑक्यूपेशनल थेरेपी टेक्नीशियन, कंसल्टेंट, ऑक्यूपेशनल थेरेपी नर्स, रीहैबिलिटेशन थेरेपी असिस्टेंट, स्पीच एंड लैंग्वेज थेरेपिस्ट, स्कूल टीचर, लैब टेक्नीशियन तथा मेडिकल रिकॉर्ड आदि पदों पर काम प्राप्त हो सकता है।

गुरुग्राम में डेंगू का कहर

सर्दियों में अपने डाइट में जरूर शामिल करें ये 5 फूड, मिलेगा बहुत लाभ

पानी है निखरी हुई त्वचा तो अपनाएं ये तरीका

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -