जानिए खिलाड़ी बनने के अलावा कैसे स्पोर्ट्स में बना सकते है अपना करियर?

इन दिनों लोग चिकित्सक, इंजीनियर, टीचर तथा मैनेजर बनने के अतिरिक्त भी जॉब इंडस्ट्री में अपने लिए नई संभावनाएं खोजने लगे हैं। इंडियन जॉब मार्केट बहुत हद तक परिवर्तित हो चुका है तथा अब आपके पास अच्छे सैलरी पैकेज वाली नौकरी के कई विकल्प उपस्थित हैं। यदि खेल-कूद के जगत में आपकी दिलचस्पी है मगर आप खिलाड़ी नहीं बनना चाहते हैं तो भी इस सेक्टर में अपना बेहतरीन करियर बना सकते हैं। स्पोर्ट्स सेक्टर में सरकारी एवं निजी, दोनों नौकरी विकल्प की बहुत भरमार है। आप कोच, मैनेजर अथवा इन्फ्लुएंसर बनकर भी अपना नाम रोशन कर सकते हैं। जानिए स्पोर्ट्स में करियर के विकल्प...

स्पोर्ट्स कोच बनकर दें ट्रेनिंग:-
इसमें कोई शंका नहीं है कि एक अच्छे प्लेयर के पीछे उसके कोच की मेहनत भी बेहद मायने रखती है। स्पोर्ट्स कोच केवल प्लेयर को निर्देश ही नहीं देता, बल्कि वह उसके लिए सपोर्ट सिस्टम बनता है तथा खिलाड़ी की आवश्यकता के मुताबिक ट्रेनिंग प्रोग्राम भी बनाता है। इसके लिए आप स्पोर्ट्स कोचिंग, स्पोर्ट्स मैनेजमेंट अथवा स्पोर्ट्स साइंस की डिग्री ले सकते हैं।

प्रत्येक खिलाड़ी को चाहिए स्पोर्ट्स लॉयर:-
स्पोर्ट्स लॉयर राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने क्लाइंट को रिप्रेजेंट करते हैं। उनके नौकरी प्रोफाइल में एंप्लॉयमेंट के कॉन्ट्रैक्ट को समझना तथा बनाना, खिलाड़ी के कामों के कानूनी पक्ष ध्यान में लाना, हर्जाने अथवा समझौते पर काम करना, स्कॉलरशिप डील का प्रबंध करना जैसे काम सम्मिलित हैं। इसके लिए कानून की डिग्री होना आवश्यक है।

मार्केटिंग में बेहतरीन है भविष्य:-
स्पोर्ट्स मैनेजर अथवा प्रमोटर को स्पोर्ट्स मार्केट की समझ होनी चाहिए। उन्हें रिपोर्ट बनाना तथा उसके मुताबिक, मार्केटिंग प्लान तैयार करना आना चाहिए। मार्केटिंग में बैचलर डिग्री अथवा समकक्ष डिग्री के साथ डिजिटल और ऑनग्राउंड मार्केटिंग में निपुण होना आवश्यक है।

मजहब के लिए ज़ायरा वसीम ने छोड़ दी फिल्म इंडस्ट्री, अब बुर्के में आती हैं नजर

तलाक के बाद भी कभी सिंगल नहीं रहीं मलाइका अरोड़ा, बनना चाहती थीं शिक्षक

अभिनय नहीं बल्कि यह काम करना चाहते थे प्रभास, बाहुबली करने पर मिला था यह गिफ्ट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -