कैंटीन में पसरा रहेगा सन्नाटा, लेकिन सरकारी दफ्तरों में कर्मचारी रहेंगे मौजूद

लॉकडाउन के बाद भी देशभर में कोरोना वायरस का आंतक लगातार बना हुआ है.ऐसे में 20 अप्रैल से सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों ने अपना कार्यभार संभाल लिया है.कोविड-19 प्रसार को देखते हुए केंद्र सरकार के मंत्रालयों, विभागों और कार्यालयों में सभी विभागीय कैंटीन को तत्काल बंद करने का फैसला किया गया है.कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय की तरफ से एक नोटिस जारी किया है.

कोरोना वायरस से भी अधिक घातक है गरीबी, न खाने को पैसे न रहने को घर

आपकी जानकारी के लिए बता दे ​कि देश में इस वक्त कोरोना वायरस लॉकडाउन लगा हुआ है.3 मई तक सभी लोग अपने घरों में कैद हैं.इस संक्रमण का अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है.कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 500 के पार पहुंच गया है.वहीं संक्रमितों की संख्या 15 हजार से ज्यादा पहुंच गई है.प्रत्येक दिन यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है.इस वक्त देश कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है.

गरीब परिवार की दुख भरी दास्तां सुन रो देंगे आप

इसके अलावा दूसरी ओर भारत में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या 18,601 हो गई है. वही, भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक देश में अबतक 590 लोगों की मौत हो चुकी है.इसके अलावा 3251 मरीज़ इलाज के बाद ठीक भी हुए हैं.

लॉकडाउन के बीच जुर्म को मिली हवा, चोरों ने दुकान से माल किया साफ़

दिल्ली के इस इलाके में तेजी से बढ़ रहा कोरोना, प्रशासन ने पूरी गली को

किया सीलदिल्ली बना कोरोना का बड़ा शिकार, फिर 2 लोगों ने गवाई अपनी जान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -