रेलवे स्टेशनों पर न बढ़ाए भीड़, 17 मई तक सभी यात्री सेवाएं रहेंगी रद्द

रेलवे ने कोरोना महामारी के कारण तीसरी बार लॉकडाउन बढ़ाने के साथ ही साफ किया कि 17 मई तक सभी यात्री सेवाएं रद रहेंगी. हालांकि, इस दौरान श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों, छात्रों, पर्यटकों, श्रद्धालुओं और अन्य लोगों को उनके गृह राज्य पहुंचाया जाएगा. इश दौरान फ्रेट और पार्सल गाड़ियों का संचालन भी जारी रहेगा.

बीते 24 घंटे में 77 लोगों ने गवाई जान, ​हर रोज हजार के आंकड़े में बढ़ रहा कोरोना संक्रमण

लॉकडाउन के बीच स्पेशल ट्रेन चलाए जाने की अनुमति के बाद रेलवे ने लोगों से अपील की है. रेलवे ने कहा, मैं आप सभी से अनुरोध करता हूं कि कृपया जनता को स्पष्ट करें कि ये स्पेशल ट्रेनें राज्य सरकार द्वारा पहचान किए गए और पंजीकृत लोगों के लिए चलाई जा रही हैं. इन लोगों के अलावा किसी भी परिस्थिति में अन्य लोगों को ट्रेन की तलाश में रेलवे स्टेशन नहीं आना चाहिए.

श्रमिकों का इंतजार हुआ खत्म, सरकार ने स्पेशल ट्रेनों को दी मंजूरी

अपने बयान में आगे रेलवे ने आगे कहा, ऐसे में हम किसी शख्स को टिकट जारी नहीं करेंगे. किसी व्यक्ति या समूह के अनुरोध पर भी हम ऐसा नहीं करेंगे. हम केवल उन्हीं यात्रियों को ट्रेन पकड़ने की अनुमति देंगे, जिन्हें राज्य सरकार के अधिकारी रेलवे स्टेशनों पर लाएंगे. राज्य सरकार अंतिम प्राधिकार है जो यह फैसला करेगी कि हमारी ट्रेनों में कौन यात्रा करेगा.

OMG! अपर सत्र न्यायाधीश भी कर रहे हैं 'वर्क फ्रॉम होम', घर से ही लगाई वर्चुअल कोर्ट

इन स्थानों पर बारिश और ओलावृष्टि के आसार

दिल्ली में लॉकडाउन के बाद भी बढ़ी संक्रमितों की संख्या

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -