क्या वैक्सीन को चकमा दे सकता है Omicron ? AIIMS निदेशक ने दी अहम जानकारी

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन ने पूरे विश्व को फिर से भयाक्रांत कर दिया है। AIIMS के चीफ डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि कोरोना के नए ओमीक्रोन वेरिएंट के स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में 30 से ज्यादा परिवर्तन देख गए हैं, जो इसे प्रतिरक्षा तंत्र से बचने की क्षमता विकसित करने में सहायता कर सकता है। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि यह वैरिएंट वैक्सीन को चकमा देने में सक्षम हो सकता है। 

AIIMS निदेशक ने कहा कि ओमीक्रोन के खिलाफ वैक्सीन की प्रभावशीलता का मूल्याकंन गंभीरता से करने की आवश्यकता है। उल्लेखनीय है कि स्पाइक प्रोटीन की उपस्थिति पोषक कोशिका में वायरस की एंट्री को आसान बनाती है और इसे फैलने देने और संक्रमण उत्पन्न करने के लिए जिम्मेदार है। रणदीप गुलेरिया ने बताया कि कोरोना के नए वैरिएंट में स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में कथित तौर पर 30 से ज्यादा उत्परिवर्तन हुए हैं और इसलिए इसके प्रतिरक्षा तंत्र से बच निकलने की क्षमता विकसित करने की संभावना है। 

AIIMS निदेशक ने कहा कि ज्यादातर वैक्सीन स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ एंटीबॉडी बनाकर काम करते हैं, इसलिए स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में इतने सारे परिवर्तन से कोरोना वैक्सीन की प्रभावशीलता कम हो सकती है। उन्होंने कहा कि भविष्य की कार्रवाई इस बात पर डिपेंड करेगी कि इसके प्रसार, तीव्रता और प्रतिरक्षण क्षमता से बच निकलने के सामर्थ्य पर ज्यादा जानकारी में क्या सामने आता है।

छतरी पर हीरे-सोने की बरसात! देखकर चमकी लोगों की आँखे

Omicron पर पीएम मोदी की बड़ी बैठक, अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों को लेकर दिए ये निर्देश

NIT Trichy ने इन पदों के लिए जारी किए आवेदन, जानिए क्या है आवेदन की अंतिम तिथि

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -