भूकंप ने मचाई तबाही, 3,723 तक पहुंचा मौत का आंकड़ा

Apr 27 2015 08:16 AM
भूकंप ने मचाई तबाही, 3,723 तक पहुंचा मौत का आंकड़ा
काठमांडू/नेपाल : नेपाल में 7.9 तीव्रता वाले भूकंप से मची तबाही से मरने वालों की संख्या 3,723 से भी ज्यादा हो गई है। जबकि 6,313 लोग घायल हो गए हैं, नेपाल में तड़के 5 बजे से भूकंप के करीब 6 झटके आने की बात कही गई वहीं आज दोपहर करीब 12.39 बजे एक बार फिर भूकंप के झटके नेपाल समेत भारत में महसूस किए गए। इस कंपन्न की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर लगभग 6.5 आंकी गई है, आज दोपहर को नेपाल और भारत में एक बार फिर अफरा - तफरी का माहौल रहा। हालांकि लोगों से भगदड़ न करने की अपील की गई। नेपाल में आए भूकंप के झटकों आ असर दूसरे दिन भी जारी रहा। 
 
नेपाल के विभिन्न क्षेत्रों समेत भारत के असम, पंजाब, मध्यप्रदेश, दिल्ली, उत्तराखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश  आदि राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। झटकों के डर से लोग अपने घरों, भवनों से बाहर निकलने लगे। कुछ क्षेत्रों में मैदान में पहुंचे लोगों ने मैदान में जमीन हिलने का अनुभव किया, तो कुछ ने वाहन हिलते हुए देखे गए। सड़कों पर वाहन चलाने वाले लोगों से वाहन मैदान की ओर ले जाने और वाहन में ही रहने की अपील की गई। दूसरी ओर हिमाल के सर्वोच्च शिखर एवरेस्ट से हिमस्खलन की बातें भी सामने आ रही हैं। माना जा रहा है कि हिमालय क्षेत्र में भूगर्भीय हलचलों का असर नेपाल और भारत पर हुआ है। दोपहर को आए इस भूकंप से किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिल सकी है। 
 
मगर सरकारी आंकड़ों में मृतकों की संख्या कम बताई जा रही हैं सरकार के अनुसार अभी तक 1950 लोग धरती की गोद में सो चुके हैं। दूसरी ओर मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाले जाने के लिए नेपाल के विभिन्न क्षेत्रों में रेस्क्यु आॅपरेशन चलाया जा रहा है। अकेले काठमांडू में लगभग 721 लोगों की मौत हो चुकी है। मिली जानकारी के अनुसार नेपाल में डरे - सहमे हुए लोगों की रात उनींदी सी  गुजरी। कुछ लोगों ने राहत कैंपों में तो कुछ ने सामूहिकरूप से रतजगा कर रात बिताई ऐसे लोग जो घरों में मौजूद थे उन्हें भी त्रासदी की भयावहता का अनुभव कर नींद नहीं आई। 
 
रविवार की अलसुबह करीब पौने पांच बजे से भूकंप के झटके फिर प्रारंभ हुए। ये आफ्टर शाॅक्स काफी देर तक महसूस किए गए। इस दौरान लगभग 6 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। मौसम की खराबी के चलते बचाव और राहत कार्य भी प्रभावित हुआ। मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने नेपाल में गुमशुदा लोगों की जानकारी के अलए कुछ हेल्पलाईन नंबर दिए गए हैं। इन हेल्पलाईन नंबरों पर काॅल कर हम आपदा प्रभावितों की जानकारी ले सकते हैं। ये नंबर इस तरह हैं - 011- 26701728, 011-26701729, 09868891801 पर और काठमांडू स्थित भारतीय एंबेसी के हेल्पलाईन नंबर 9779851107021 और 9779851135141 भारतीय सेना ने नेपाल में बचाव कार्य कर आॅपरेशन मैत्री प्रारंभ किया। इस दौरान उन्होंने बचाव कार्य तेज कर दिया। एनडीआरएफ के दल ने राहत और बचाव कार्य में जुट गए। 
 
एनडीआरएफ के निदेशक जनरल ओपी सिंह हालात का जायजा लेने नेपाल जाऐंगे। मिली जानकारी के अनुसार हिंडन एयर फोर्स के एओसी ने मामले में बताया कि दो सी - 17 ग्लोबमास्टर विमानों को हिंडन एयरफोर्स स्टेशन से रवाना किया गया। इस दौरान काठमांडू में इसे लैंड किया जा चुका है। मिली जानकारी के अनुसार नेपाल के लोकप्रिय ज्योर्तिलिंग बाबा पशुपतिनाथ को भी नुकसान पहुंचा है। हालांकि यहां शिवलिंग सुरक्षित बताया जा रहा है। रेस्क्यू के लिए भारत की ओर से एनडीआरएफ के दल के साथ स्निफर डाॅग भी भेजे गए। हैं। जिनकी सहायता लेकर मलबे के नीचे से मानव और अन्य जीवों को निकाला जा सकेगा। नेपाल में मची तबाही को लेकर वहां अभी भी अलर्ट जारी किया गया है। हालांकि भूकंप के आफ्टर शाॅक्स तड़के ही आए मगर एहतियातन लोगों को कमजोर ईमारतों के आसपास जाने से रोका जा रहा है। राहत शिविरों में लोग आवास और भोजन प्राप्त कर रहे हैं।