आप भी खा रहे हैं कैल्शियम की गोली तो आ सकता है हार्ट अटैक!

आजकल की लाइफस्टाइल में अनियमित खान-पान के चलते 30 की उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती है। जी हाँ और इसी को देखते हुए कई बार हड्डियों में दर्द होने, जोड़ो में दर्द होने या मांसपेशियों में ऐंठन होने पर लोग बिना डॉक्टरी चेकअप कराए, अपने आप से ही कैल्शियम सप्लीमेंट्स या कैल्शियम टेबलेट लेना शुरू कर देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि हड्डियों की मजबूती के लिए ये जरूरी है। हालाँकि हम आपको बता दें कि कैल्शियम एक मिनरल है, जो ना सिर्फ हड्डियों, दांतों को हेल्दी रखता है, बल्कि नसों, हार्ट, मसल्स, ब्लड से जुड़ी समस्याओं को दूर रखने के लिए भी जरूरी होता है।

जी हाँ, सामने आने वाली एक रिपोर्ट के अनुसार अब एक नई स्टडी में दावा किया गया है कि बिना मेडिकल टेस्ट कराए कैल्शियम लेना खतरनाक हो सकता है। जी हाँ और ये खतरा खासकर तब और ज्यादा हो जाता है, जब आप इसे बॉडी में अब्जॉर्ब कराने के लिए जरूरी विटामिन-डी (Vitamin D) नहीं ले रहे। आप सभी को बता दें कि ब्रिटेन के 2,650 लोगों पर स्टडी की गई। जिसके मुताबिक कैल्शियम की गोली से वयस्कों में हार्ट अटैक से मौत का रिस्क सामान्य लोगों की तुलना में करीब एक तिहाई यानी 33% ज्यादा है। इसी के साथ स्टडी में यह भी बताया गया कि अलग से लिया गया कैल्शियम बॉडी में अब्जॉर्ब नहीं होता है, तो हार्ट के अंदर एओर्टिक वाल्व (Aortic valve) का खुलना पूरी तरह से बंद कर सकता है। इस स्टडी का निष्कर्ष मेडिकल जर्नल ‘हार्ट’ में प्रकाशित किया गया है। केवल यही नहीं बल्कि स्टेनोसिस वाल्व लीफलेट्स (stenosis valve leaflets) पर कैल्शियम की परत के कारण उनकी खुलने और बंद होने की क्षमता प्रभावित होती है।

ऐसा होने से शरीर में ऑक्सिजनेटेड ब्लड फ्लो कम हो जाता है। वहीं अमेरिका के ओहायो में क्लीवलैंड क्लिनिक फाउंडेशन (Cleveland Clinic Foundation in Ohio) के रिसर्चर्स जिन्होंने 5 साल तक मरीजों का फोलॉअप लिया, और उन्होने पाया कि इसके साथ विटामिन D नहीं लेने पर हार्ट की समस्याओं से मरने का रिस्क दोगुना रहता है। आपको बता दें कि इससे पहले 2010 में ब्रिटिश मेडिकल जर्नल की एक रिपोर्ट ने बताया था कि कैल्शियम लेने वालों में दिल के दौरे की दर काफी अधिक है। उसके बाद साल 2019 में टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने 27,000 अमेरिकी वयस्कों के रिकॉर्ड का विश्लेषण कर कैल्शियम की उच्च खुराक और कैंसर के बीच संबंध बताया था।

आप सभी को बता दें कि कैल्शियम हडि्डयों और दांतों के लिए जरूरी है। जी हाँ और इसकी कमी से बच्चों में रिकेट्स हो सकता है। ऐसे में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स, हरी पत्तेदार सब्जियां और कुछ मछलियों को खाना बेहतरीन है।

रोज खाना चाहिए करौंदा, तेजी से घटता है वजन

रात में सोने से पहले भूल से भी ना खाएं ये चीजे वरना होगी गैस की समस्या

सावधान! स्किन एलर्जी का कारण हो सकती हैं घर की यह 5 चीजें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -