चीनी पर स्टॉक लिमिट भी नहीं पहुंचा रही राहत

नई दिल्ली : देश में चीनी की कीमतों में बढ़ोतरी का समां देखने को मिल रहा है. जिपर लगाम लगाने के लिए कैबिनेट ने राज्यों को स्टॉक लिमिट लगाने के लिए मंजूरी प्रदान की है. लेकिन कैबिनेट के इस कदम के बाद भी कही से राहत की खबरें सामने नहीं आ रही है. जबकि मामले में जानकारों का यह कहना है कि सरकार के इस फैसले का असर अस्थाई रूप से सामने आने वाला है.

मामले में यह बात भी सुनने को मिली है कि सरकार के इस फैसले के बाद से ही चीनी कंपनियों के स्टॉक्स में गिरावट का रुख बना हुआ है. बता दे कि पिछले दो महीनों में चीनी की कीमतों में करीब 26 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है और इसके चलते ही सरकार को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने यह कहा था कि चीनी व्यापारी एक निश्चित मात्रा से अधिक चीनी अपने पास नहीं रखे. लेकिन इस फैसले का भी कोई सही असर नहीं हुआ है. मामले में विश्लेषकों का यह बयान सामने आया है कि यदि चीनी की कीमतें कम हो जाती है तो इससे किसानों को सीधे तौर पर नुकसान का सामना करना पड़ सकता है. इसके चलते ही जहाँ एक तरफ भ्रष्टाचार बढ़ेगा तो वही गन्ना किसानों के लिए परेशानी पैदा होगी.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -