कैबिनेट का बड़ा फैसला, मेगा टेक्सटाइल पार्क स्थापित करने के लिए दी पीएम मित्रा योजना को मंजूरी

भारत कपड़ा उद्योग में विश्व का छठा सबसे बड़ा एक्सपोर्टर है। इसे बढ़ाने तथा नए रोजगार के मौके बनाने के लिए मेगा टेक्सटाइल पार्क बनाने के प्रस्ताव को अनुमति दे दी है। सूत्रों का कहना है कि टेक्सटाइल मेगा पार्क पर लगभग 4000 करोड़ रुपये खर्च हो सकते है। पिछले कुछ माहों में सरकार ने टेक्सटाइल को लेकर तीसरा बड़ा निर्णय लिया है। इस खबर के पश्चात् टेक्सटाइल कारोबार से संबंधित कंपनियों के शेयरों में बड़ा उछाल आया है।

वही सामान्य रूप से टेक्सटाइल सेक्टर में महिलाओं को बहुत संख्या में रोजगार प्राप्त हुआ है। पीएलआई योजना के कारण महिलाओं के रोजगार को प्रोत्साहन प्राप्त होगा तथा अर्थव्यवस्था के औपचारिक क्षेत्र से वे जुड़े सकेंगीं। योजना से गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, पंजाब, ओडिशा जैसे प्रदेशो को बहुत सहायता मिलेगी। बता दे कि भारत कपड़ा उद्योग में विश्व का छठा सबसे बड़ा एक्सपोर्टर है। टेक्सटाइल पार्क के माध्यम से इस सेक्टर में एक्सपोर्ट को सुधारने की तैयारी है। इसीलिए सरकार एकीकृत टेक्सटाइल पार्क बना रही है।

वही यदि सरल शब्दों में कहें तो इसके तहत एक ही स्थान पर कई सारी फैक्ट्री यूनिट को स्थापित किया जाता है। कपड़ा उद्योग से संबंधित सभी बुनियादी चीजों की सुविधाएं जैसे उत्पादन, मार्केट लिंकेज उपलब्ध होती हैं। सरकार इसे अंतरराष्ट्रीय मानकों को देखते हुए विकसित करती है। टेक्सटाइल पार्क का उद्देश्य कपड़ा क्षेत्र में बड़े निवेश लाना होता है। इन पार्कों में कपड़ा इंडस्ट्री के लिए एकीकृत सुविधाएं होती है।

दिल्ली में लॉन्च हुई डिजिटल थाली, मिलेंगे बिटक्वाइन टिक्का-एथेरियम बटर चिकन जैसे पकवान

52 साल की उम्र में इस मशहूर हस्ती ने रचाई शादी

शर्मनाक! धार्मिक उपदेशक ने किया नाबालिग लड़की से दुष्कर्म

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -