मंत्री तुलसी सिलावट का निवास सील, जानें क्यों

Aug 06 2020 02:30 PM
मंत्री तुलसी सिलावट का निवास सील, जानें क्यों

एमपी में कोरोना संक्रमण के मध्य एहतियात जारी है. राज्य में कोरोना रोगियों का आंकड़ा परिवर्तित होता जा रहा है. मध्यप्रदेश में अब तक 35,365 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 939 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, और 25,394 लोग ठीक होकर अपने निवास लौट चुके हैं.

उत्तराखंड में 8000 के पार पहुंचा कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा

इंदौर में कोरोना संक्रमित राज्य के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट का निवास सील कर दिया गया है. सिलावट फिलहाल अरबिंदो चिकित्सालय में एडमिट हैं. वहां उनका कोरोना का उपचार चल रहा है. दरअसल, तुलसी सिलावट और उनकी वाइफ के संक्रमित होने के बाद उनकी बहन भी कोरोना पॉजिटिव निकलीं, लेकिन मंत्री के फैमिली के तीन लोग कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी बंगले में लोगों की आवाजाही जारी थी. अब प्रशासन ने निवास को बैरिकेड लगाकर कंटेनेमेंट एरिया बनाने का ऐलान कर दिया है.

यूपी: एसएएफ कर्मी के घर हुई 22 लाख की चोरी, माँ के निधन पर गया था गांव

बता दे कि इंदौर में कोरोना के संक्रमण का असर अदालत पर भी नजर दे रहा है. अब यहां पंद्रह  अगस्त तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई प्रारंभ की गई है. पांच जजों की कमेटी ने यह निर्णय किया है. अधिवक्ता संघ फिजिकल हियरिंग की मांग कर रहे थे. इस पर मध्‍य प्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस एके मित्तल ने 5 वरिष्ठ जजों की कमेटी बनायी थी. दूसरी तरफ, इंदौर जिला कोर्ट के 18 कर्मचारी अब तक कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. इनके अलावा 99 न्यायिक अफसरों और 695 स्टाफ को अभी तक क्वारेंटीन किया जा चुका है. यही कारण है कि महामारी के बढ़ते संक्रमण की वजह से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का फैसला लिया गया है. 

उत्तर प्रदेश में बनेगा भारत का प्रथम किंग वल्चर संरक्षण केंद्र

केरल में बना देश का पहला राइफल कोलाज, पुलिस की रचनात्मकता को देश कर रहा सलाम

कर्नाटक के मिनिस्टर एस ईश्वरप्पा ने बोला- काशी, मथुरा में बनाएं जाएंगे भव्य मंदिर