काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में ढही जर्जर ईमारत, 2 मजदूरों की मौत, 7 घायल

वाराणसी: वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर में एक हादसे में 2 श्रमिकों की मौत हो गई है, वहीं सात अन्य घायल बताए जा रहे हैं। इस कॉरिडोर को पीएम नरेंद्र मोदी का महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट माना जाता है। वाराणसी के जिलाधिकारी ने ट्वीट करते हुए बताया है है कि पीएम मोदी ने स्वयं कॉल कर पूरे मामले की जानकारी ली है।

खबरों के मुताबिक, निर्माणाधीन काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के पास मंगलवार सुबह यह हादसा हुआ। यहाँ जर्जर दो मंजिला गोयनका छात्रावास का कुछ भाग भरभरा कर गिर गया। छात्रावास के रसोई का हिस्सा पूरी तरह से ढह गया। जब यह हादसा हुआ उस वक़्त 8 मजदूर उसी में सो रहे थे। हादसे में दो मजदूरों की मौत हो गयी और अन्य जख्मी हो गए। NDRF की सहायता से घायलों को अस्पताल भर्ती करवाया गया है। सभी श्रमिक पश्चिम बंगाल के मालदा के बताए जा रहे हैं।

काशी विश्वनाथ परिसर में बीते 10 दिनों के भीतर दूसरी बार जर्जर मकान गिरने की घटना हुई है। इससे पहले 23 अप्रैल को लाहौरी टोले के पास तीन मंजिला मकान की एक कमरे की दीवार भरभार कर ढह गयी थी। तब हादसे में पांच लोग जख्मी हो गए थे। बता दें कि काशी विश्ननाथ कॉरिडोर के आसपास कई घर वर्षो पुराने और जर्जर हाल में हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि कॉरिडोर निर्माण कार्य में लगी भारी मशीनों की वजह से हो रहे कंपन के चलते जर्जर मकान गिर रहे हैं।

मोदी सरकार की दिशाहीनता ने कोरोना वैक्सीन के उत्पादन और वितरण को चौपट कर दिया - प्रियंका वाड्रा

आरबीआई ने बिटकॉइन निवेशकों को दी राहत

हैदराबाद पहुंचा स्पुतनिक-वी का सबसे बड़ा शिपमेंट, टीकाकरण अभियान को मिलेगी रफ़्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -