BSP ने शुरू की 2017 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव की तैयारी

BSP ने शुरू की 2017 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव की तैयारी

लखनऊ : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने सूबे में आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियां तेज कर दी हैं। पार्टी ने प्रदेश के सभी 403 निर्वाचन क्षेत्रों में विशेष कार्यकर्ता शिविर आयोजित करने का सिलसिला शुरू कर दिया है। पार्टी के इस कदम से कार्यकर्ताओं की हौसला आफजाई होगी और चुनावों में हार की वजह से उनके गिरे मनोबल को ऊंचा करने में मदद मिलेगी। विधानसभा चुनाव वर्ष 2017 में होंगे। बसपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व राज्यसभा सदस्य ब्रजेश पाठक ने बताया कि कई क्षेत्रों में ऐसे शिविर पहले से ही आयोजित किए जा चुके हैं। इन शिविरों के माध्यम से बसपा अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के खास सहायकों को पार्टी के जिला समन्वयकों, सेक्टर और बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ सीधे संपर्क करने का मौका मिलेगा।

उन्होंने बताया कि जिला समन्वयकों से कहा गया है कि वह प्रत्येक शिविर में कम से कम 500 कार्यकर्ताओं को हर हाल में शामिल कराएं। शिविर में कार्यकर्ताओं को पार्टी की नीतियों को मतदाताओं तक पहुंचाने की रणनीति समझाई जाएगी। शिविर में बहुजन वालेंटरी फोर्स और बामसेफ के सदस्यों को भी शामिल कराने के निर्देश दिये गए हैं। इन संगठनों के सदस्य मायावती के भरोसेमंद माने जाते हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्टी संस्थापक कांशीराम के 'संवर्गीकरण' के फॉर्मूले को जोर-शोर से लागू करने की योजना है।

कार्यकर्ताओं से कहा जाएगा कि वे दलितों के बीच कांशीराम के मताधिकार से होने वाले सशक्तिकरण के संदेश को जोर-शोर से पहुंचाएं। उन्हें बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की विरासत पर पकड़ मजबूत करने के टिप्स भी इन शिविरों में दिए जाएंगे। गौरतलब है कि प्रदेश में दलित वोटरों पर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों पार्टियों की नजरें टिकी हैं और उन्हें अपने पाले में लाने के लिए दोनों दल रणनीति बनाने में लगे हैं। ऐसे में बसपा का विशेष कार्यकर्ता शिविर पार्टी की 2017 विधानसभा चुनाव की तैयारी के लिहाज से अहम माना जा रहा है।