कोरोना महामारी के बीच एक बार फिर स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला टला

ब्रासीलिया: देश में कोविड-19 महामारी के कहर के बीच ब्रिटिश विश्वविद्यालयों को अगले माह खोलने की योजना को रद्द किया जा चुका है. महाविद्यालय संघ ने कहा है कि पाठ्यक्रमों को ऑनलाइन ही पढ़ाया जाने वाला है. इस निर्णय से पीएम बोरिस जॉनसन के उस फैसले को धक्‍का लगा है, जो विद्यार्थियों को उनकी कक्षाओं में वापस लाने की एक असफल कोशिश कर रहे थे.

महाविद्यालय और कॉलेज यूनियन (यूसीयू) ने बोला कि छात्रों को विश्वविद्यालयों में वापस भेजना हड़बड़ी होगी. उन्‍होंने चेतावनी दी है कि अगर देश में कोविड महामारी का कहर होता है तो उन्हें दोषी ठहराया जा सकता है. UCU के महासचिव जो ग्रैडी ने अपने एक बयान में बोला है कि देशभर में 10 लाख से ज्यादा छात्रों को स्थानांतरित करना कठिन काम है. इससे कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर आ जाएगी है. उन्होंने सरकार से sabhi  शिक्षण को ऑनलाइन स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है. 

UCU का यह निर्णय ऐसे वक़्त आया है, जब पीएम जॉनसन लॉकडाउन के उपरांत अर्थव्‍यवस्‍था को पटरी पर लाने की कवायद कर रहे हैं. जंहा इस बात का पता चला है कि प्रतिबंधों की वजह से अप्रैल-जून की अवधि के बीच ब्रिटेन की अर्थव्‍यवस्‍था में 20 प्रतिशत की गिरावट आई थी. अर्थव्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने के लिए पीएम जॉनसन कर्मचारियों को कार्यालयों में लौटने का आह्वान कर रहे हैं.

नॉर्वे: इस्लाम विरोधी रैली के दौरान भिड़े दो पक्ष, पुलिस का बैरिकेड तोड़ा

फेसबुक विवाद: आखिरकार जकरबर्ग ने माना- भड़काऊ पोस्ट ना हटाकर गलती की

'क़ुरान शरीफ' जलाने के बाद 'जल' उठा स्वीडन, हिंसा-आगज़नी और पुलिस पर पथराव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -