लंदन की सड़कों पर पेट्रोल-डीजल के लिए मारामारी, सूखे पड़े फ्यूल स्टेशन

लंदन: पीएम बोरिस जॉनसन ने मंगलवार को ब्रिटेन की जनता को आश्वस्त करने का प्रयास करते हुए कहा कि देश में ईंधन आपूर्ति संकट की स्थिति में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. हालांकि, उनकी सरकार ने कहा कि स्थिति सामान्य होने में कुछ वक़्त लगेगा. जॉनसन की सरकार ने गैसोलीन का वितरण करने और ईंधन की किल्लत को कम करने में सहायता करने के लिए सैनिकों को तैयार रहने को कहा है. यह संकट ट्रक ड्राइवर्स की कमी के कारण पैदा हुआ है और सैकड़ों ईंधन स्टेशनों में गैस समाप्त हो गई. लोगों को गैस के लिए लंबी-लंबी लाइनों में खड़ा होना पड़ा.

जॉनसन ने एक इंटरव्यू में कहा कि, ‘अब हम स्थिति में सुधार देख रहे हैं. स्थिति सुधर हो रही है, लोगों को आश्वस्त होना चाहिए और सामान्य तरीके से अपने काम पर जाना चाहिए.’ पेट्रोल रिटेलर्स एसोसिएशन ने भी कहा कि इस बात के ‘शुरुआती संकेत’ प्राप्त हो रहे हैं कि ईंधन संकट ख़त्म हो रहा है. UK इस वक़्त सबसे बड़े ईंधन संकट से गुजर रहा है. देश के कई पेट्रोल पंप पर तेल और गैस पूरी तरह से समाप्त हो चुके हैं. इस नए संकट ने जॉनसन सरकार की समस्या को और बढ़ा दिया है. इस संकट को दूर करने के लिए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है.

सरकार द्वारा फैसला किया गया है कि वो पेट्रोल स्टेशनों पर ईंधन डिलीवरी को करने की स्वीकृति देने के लिए ‘प्रतिस्पर्धा कानून’ को सस्पेंड करेगी. अधिकारियों ने कहा कि इस कदम से कंपनियों के लिए सूचनाओं को शेयर करना और देश के सबसे अधिक आवश्यकता वाले हिस्सों को प्राथमिकता देना आसान हो जाएगा.

World Heart Day 2021: सिद्धार्थ शुक्ला से लेकर इन मशहूर सितारों की हुई हार्ट अटैक से मौत

इस्राइल-हमास तनाव बढ़ने पर बिडेन के सुरक्षा सलाहकार मिस्र के लिए हुए रवाना

बिना मान्यता के काबुल की मदद करने को लेकर असमंजस में इस्लामाबाद

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -