अब यूरोपीय अंतरिक्षयान बुध के बारे में देगा जानकारी,

अब यूरोपीय अंतरिक्षयान बुध के बारे में देगा जानकारी,

लंदन : विदेशी अंतरिक्ष एजेंसी अंतरिक्ष के बारे में ज्यादा से ज्यादा पता करने की कोशिश कर रही हैं जिससे उन्हें दूसरे ग्रह के बारे में भी जानकारी मिलती रहे. ऐसे ही ब्रिटेन में एक अंतरिक्ष यान बना है जो इसी हफ्ते बुध की यात्रा के लिए निकलेगा. इसका मकसद ये होगा कि सूर्य के सबसे करीब ग्रह पर पानी उपस्थित है या नहीं. ऐसे कई अंतरिक्ष यान जा चुके हैं और ये पता लगा चुके हैं कि दूसरे ग्रह पर पानी है या नहीं.

स्पेस क्राफ्ट का इंजन ख़राब होने से कराई आपातकालीन लैंडिंग

बताया जा रहा है ये अपने आप में एक अलग अंतरिक्षयान है जो सूर्य के करीबी ग्रह के बारे में पता लगाएगा. यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ईएसए) के बेपीकोलंबो अभियान के तहत दो कृत्रिम उपग्रह जैसे उपकरण भेजे जाएंगे जो उस ग्रह से जुड़ी जानकारी को एकत्रित करेंगे जहां सतह का तापमान करीब 450 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है. ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ लीसेस्टर की प्रोफेसर एम्मा बंस यान में भेजे वाले उपकरण को बनाया है. उनका कहना है कि बुध से जुडी कई ऐसी जानकारी हैं जिनके बारे में हम अब तक नहीं जानते. 

सौरमंडल के बहार मौजूद एक और चाँद, धरती से है बड़ा

बताया जा रहा है बेपीकोलंबो अभियान से उन सभी अभियनिक के सवाल के जवाब मिलेंगे जो पहले किये जा चुके हैं. इसी के साथ ये भी पता चलेगा कि वहां पर पानी मौजूद है या नहीं. बुध सूर्य के बेहद करीब है और इसके झुकाव का मतलब है कि उसके कुछ क्षेत्र स्थाई रूप से छाया में रहते हैं जिनका तापमान भी शून्य से नीचे 180 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है. इससे ग्रह पर बर्फ भी जम सकती है और इसी के साथ चुम्बकीय क्षेत्र के बारे में भी जानकारी हासिल करेंगे. 

खबरें और भी...

भारत के मिसाइल मेन थे अब्दुल कलाम

अंतरिक्ष तक गए थे वर्ल्ड वॉर 2 में हुए विस्फोट के झटके