वरमाला डालने से पहले दुल्हन ने पूछ डाला ऐसा सवाल की दूल्हे का हुआ बुरा हाल, बिना शादी लौटी बारात

वरमाला डालने से पहले दुल्हन ने पूछ डाला ऐसा सवाल की दूल्हे का हुआ बुरा हाल, बिना शादी लौटी बारात

अक्सर शादियां टूटने के कई कारण सामने आते रहते हैं। कभी ऐसा होता है कि दहेज की बात नहीं बन पाई तो कभी किसी और घटना के चलते शादी टूट गई। मगर यूपी से शादी टूटने की घटना तब सामने आई जब दूल्हा-दुल्हन स्टेज पर थे तथा दुल्हन ने एक प्रश्न पूछ लिया। यह पूरा केस यूपी के महोबा जिले का है, यहां खरेला थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी ने बेटी की शादी पनवाड़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में तय की थी। 30 अप्रैल की रात बारात लड़की पक्ष के दरवाजे पहुंची, इस के चलते बारातियों की बहुत खातिरदारी हुई। इसी बीच जयमाला समारोह के चलते दूल्हा अजीब बर्ताव करने लगा, ये सब दुल्हन देख रही थी। दुल्हन ने जयमाला डालने से पहले दूल्हे से एक प्रश्न कर डाला। उसने कहा कि यदि वो इस प्रश्न का उत्तर देगा तभी वो शादी करेगी। यदि उत्तर नहीं दे पाया तो शादी नहीं करेगी।

दरअसल, दुल्हन ने दूल्हे से दो का पहाड़ा सुनाने को कहा। दूल्हन के प्रश्न के पश्चात् दूल्हे को तो पहले कुछ समझ नहीं आया। तत्पश्चात, वह इधर-उधर देखने लगा तथा उसकी पोल खुल गई। फिर दुल्हन ने दूल्हे के साथ सात फेरे लेने से मना कर दिया तथा वरमाला नहीं पहनाया। दुल्हन ने स्पष्ट इंकार कर दिया कि वह इससे शादी नहीं करेगी। इतना सुनते ही बारातियों के पांव से जमीन खिसक गई। खुशी का माहौल पूरा तनाव में परिवर्तित हो गया। किसी को समझ नहीं आ रहा था कि क्या फैसला लिया जाए। दुल्हन ने कहा कि वह किसी ऐसे शख्स से शादी नहीं कर सकती, जिसे गणित की मूल बातें भी पता नहीं हैं।

वही घंटों बातचीत के पश्चात् भी मामला नहीं सुलझ सका तथा पूरी रात दुल्हन को मनाने की कोशिश जारी रही, मगर उसने नहीं सुनी। जब पुलिस को इसके बारे में पता चला तो समझाने की कोशिश की गई, किन्तु लड़की ने बात नहीं मानी। आखिरकार लड़की की बात मान ली गई। लड़की पक्ष के लोग थाना पहुंच गए तथा मांग की कि शादी में जो रुपये खर्च हुए हैं, उसे वापस दिलाया जाए। थानाध्यक्ष विनोद कुमार का कहना है कि दोनों पक्षों की बात सुनी गई। उन्होंने कहा कि यह एक अरेंज मैरिज थी।

सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करने के कुछ घंटों बाद ही इस मशहूर अभिनेता का हुआ निधन, लिखा- जल्द जन्म लूंगा...

खुशखबरी! अब प्राइवेट अस्पतालों में भी मुफ्त में इलाज करा सकेंगे कोरोना मरीज, गहलोत सरकार ने लिया बड़ा फैसला

इस बार पहले से अधिक कठोर होगा दिल्ली में लॉकडाउन, जानिए किन चीजों पर होगी रोक और छूट?