ब्राजील : राष्ट्रपति के ऐलान में नही दिखा कोरोना वायरस का डर

ब्राजील : राष्ट्रपति के ऐलान में नही दिखा कोरोना वायरस का डर

कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए तमाम देश जहां लॉकडाउन कर रहे हैं वहीं ब्राजील के राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो का रुख इसके बिल्कुल उलट है. बोलसोनारो ने वायरस के डर को खारिज करते हुए आम लोगों से काम पर लौटने का आग्रह किया है. पिछले चौबीस घंटों में ब्राजील में संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 46 हो गई है. संक्रमण के मामलों की संख्या 2,200 से ज्यादा हो गई है.

​कोरोना को लेकर वास्तविक स्थिति से बचते नजर आए इमरान खान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि देश के सबसे बड़े शहर साओ पाउलो में संक्रमण का पहला मामला सामने आया था. महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित होने के बाद मंगलवार से साओ पाउलो में दो सप्ताह का लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में राष्ट्रपति बोलसोनारो ने शहर के मेयर और स्टेट गवर्नर से लॉकडाउन वापस लेने का आग्रह किया.

​कोरोना वायरस : अमेरिका से भागने के लिए भारी रकम चुका रहे चीनी छात्र

अपने बयान में बोलसोनारो ने कहा कि, हमें हर हाल में पहली जैसी स्थिति में लौटना चाहिए क्योंकि लॉकडाउन के चलते रियो डि जेनेरियो और साओ पाउलो में जिंदगी थम सी गई है. इटली जैसी भयानक स्थिति ब्राजील की नहीं हो सकती क्योंकि ना केवल हमारे देश की जलवायु गर्म है बल्कि बड़ी संख्या में यहां की जनसंख्या युवा है. अगर आप मेरी बात करें तो मैं एथलीट रहा हूं. अगर मैं संक्रमित भी हो जाता हूं तो मुझे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. हो सकता है कि यह छोटा-मोटा कोई फ्लू हो.

कोरोना वायरस की दहशत में इस दिग्गज बांग्‍लादेशी नेता को मिली जेल से रिहाई

आखिर क्या है अफगानिस्‍तान सरकार और तालिबान के बीच वीडियो कांफ्रेंसिंग मकसद ?

कोरोना : लॉकडाउन में घर से बाहर निकलने पर चुकाना पड़ेगा 2 लाख ​का जुर्माना