आपके मस्तिष्क के लिए 'ब्राह्मी' से अच्छी नहीं है कोई भी औषधि

आपके मस्तिष्क के लिए 'ब्राह्मी' से अच्छी नहीं है कोई भी औषधि

हम आपको बता दें ब्राह्मी गीली मिट्टी में अपने आप उगती है। इसमें छोटे-छोटे पर्पल या फिर सफेद फूल भी लगते हैं, जिनमें ज्यादा से ज्यादा पांच पंखुड़ियां होती हैं। फूलों सहित यह पौधा गुणकारी औषधि के रूप में प्रयोग में लाया जाता है। ब्राह्मी याद्दाश्त बढ़ाने का बेहतरीन निदान है। यह दिमाग के तीनों पहलुओं शॉर्ट टर्म मेमोरी, लांग टर्म मेमोरी और याद्दाश्त को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

कई तरह की बीमारियों को जड़ से ख़त्म करता है 'अमरूद' का सेवन

यह है इसके अमूल्य फायदे 

जानकारी के लिए बता दें ब्राह्मी के नियमित सेवन से पाचन संबंधी दिक्कतें भी दूर होती हैं, तथा पाचन तंत्र काफी मजबूत हो जाता है। इसी के साथ ब्राह्मी आर्थराइटिस से आराम पाने के लिए बेहतरीन नुस्खा है। इसके साथ- साथ यह गैस्ट्रिक अल्सर और बॉउल सिंड्रोम से भी बचाव करने में हमारी मदद करता है।हम आपको बता दें ब्राह्मी में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कि एक स्वस्थ जीवन के लिए बेहद जरूरी है। 

अपनी डाइट में शामिल कीजिये अंकुरित चने, शरीर को होंगे कई फायदे

और भी है इसके कई अन्य फायदे 

इसी के साथ हम आपको बता दें ब्राह्मी कोर्टिसोल के स्तर को कम करने के लिए जानी जाती है, जो कि एक स्ट्रेस हार्मोन है। इसका प्रयोग तनाव और चिंता को कम करने के लिए किया जाता है। यह तनाव के प्रभावों को खत्म करने का काम करता है। वही ब्राह्मी में एमिलॉइड यौगिक के पाए जाने की वजह से यह अल्जाइमर्स की बीमारी में काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा यह अल्जाइमर की वजह से दिमाग को होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करता है।

योग मुद्राओं से करें अपनी छोटी छोटी बिमारियों को दूर

हार्ट अटैक में करें लाल मिर्च से इलाज

दातुन से होते है दाँत मजबूत, बस ऐसे करें एक अच्छे दातुन का निर्माण