डूबती दोस्त को बचाने के लिए लगाई छलांग, साथी बची पर लड़का डूब गया

Sep 08 2015 07:08 PM
डूबती दोस्त को बचाने के लिए लगाई छलांग, साथी बची पर लड़का डूब गया

भोपाल/औबेदुल्लागंज : भोपाल में एक दिल दहला देने वाले हादसे में अपने साथी दोस्त को नदी में गिरने के बाद उसे बचाने कूदा उसका दोस्त नही बच पाया व इस दौरान लड़की की जान बच गई. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक छात्र शुभम शुक्ला टीआईटी कॉलेज में फाॅर्मेसी फोर्थ ईयर का छात्र था, वह अपने दोस्त अक्षत पाठक के साथ भोपाल के एलआईजी 143, भारती निकेतन में किराये से रहता था. शुभम मूलत: छिंदवाड़ा का रहने वाला था. शुभम के दोस्त अक्षत ने बताया की हमारा एक दोस्त जिसका नाम अंकुर दावड़े है वह इंदौर से भोपाल आया था व हमने सोमवार को भोजपुर चलने का प्लान बनाया व सोमवार की सुबह 8 बजे शुभम, अंकुर, रानी, कीर्ति और अक्षत भोजपुर पहुंचे व मंदिर में दर्शन करने के बाद बेतवा नदी के किनारे आकर बैठ गए. उसी दौरान रानी का पैर फिसलने से वह नदी में जा गिरी तथा उसे बचाने के चक्कर में शुभम ने भी पानी के तेज बहाव में छलांग लगा दी व नदी के तेज बहाव में दोनों ही बहने लगे तथा यह देख अक्षत, कीर्ति और अंकुर ने शोर मचाया। 

पास ही पार्वती मंदिर के पुजारी का बेटा कालूराम और उनके दो साथी दिनेश मांझी और पुरुषोत्तम कीर ने उनकी आवाज सुन ली तीनों ने नदी में छलांग लगा दी व जैसे-तैसे रानी को तो बचा लिया परन्तु शुभम को नही बचाया जा सका. दोनों लड़कियां रानी व कीर्ति एलएन मेडिकल कॉलेज एंड जेके हॉस्पिटल में एमबीबीएस थर्ड प्रोफ की छात्राएं हैं. तथा हॉस्पिटल के प्रमुख डॉ. डीके सतपथी ने कहा की दोनों ही लड़कियां बिना इजाजत के अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थी. कीर्ति राजस्थान की है व रानी बैतूल की रहने वाली है, तथा हादसे के बाद से ही रानी सदमे में है. सुचना मिलते ही मौके पर औबेदुल्लागंज पुलिस और एसडीएम पंहुच गए थे व गोताखोरों की मदद से शुभम की लाश को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है. सुचना पर शुभम के पिता भी तुरंत घटनास्थल पर पहुंच गए थे.