पुस्तक मेले में छाई चीनी लेखकों की टैगोर, मोदी पर लिखी किताबें

Jan 13 2016 12:59 PM
पुस्तक मेले में छाई चीनी लेखकों की टैगोर, मोदी पर लिखी किताबें

नई दिल्ली : दिल्ली विश्व पुस्तक मेले में चीन के प्रकाशकों ने गुरूदेव रवींद्र नाथ टैगोर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चीनी लेखकों की पुस्तकें पेश की गई हैं। न्यूयार्क टाईम्स में प्रकाशित विशिष्ठ लेखों का संग्रह भी विश्व पुस्तक मेले में शामिल है। इस पुस्तक मेले को बहुत पसंद किया जा रहा है। चीन भारत विश्व पुस्तक मेले में देश के शानदार साहित्य को एक साथ पाकर खुशी जता रहा है।

इस पुस्तक मेले में गुरूदेव और राष्ट्रकवि रवींद्रनाथ टैगोर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आधारित पुस्तकें भी प्रस्तुत की गई हें। विभिन्न प्रकाशकों द्वारा पेश की गई पुस्तकों में किसी पुस्तक का अनुवाद नहीं बल्कि ये पुस्तकें मूल रूप में शामिल हैं। चीन में लोगों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर जिज्ञासा है। नरेंद्र मोदी एक सामान्य परिवार से थे। वे आखिर किस तरह से इतने बड़े पद तक पहुंचे हैं इस बारे में बताया गया है।

प्रगति मैदान में चीन का एक बड़ा पैवेलियन है इस पैवेलियन में 5 हजार से भी अधिक पुस्तकों का समावेश किया गया है। इन पुस्तकों में कुछ के अंग्रेजी अनुवाद भी शामिल किए गए हैं। पुस्तक मेले का विशेष आकर्षण न्यूयाॅर्क टाईम में प्रकाशित लेखों का संग्रह इसमें शामिल किया गया है। जिसे न्यूयाॅर्क रिव्यूयर का नाम दिया गया है। पेंग्विन प्रकाशन और हार्पर कालिन्स ने क्लासिकल पुस्तकें प्रस्तुत की हैं।

पेंग्विन की लेखक विक्टर ह्यूगो की रेच्ड, मार्गेट डेबाल की निडिल आई, हेनोर दी वालजेक की ब्लैक शिप, लाइनल ट्रिलिंग की लिबरल इमेजिनेशन आदि सम्मिलित की गई हैं। इस पुस्तक मेले में केवल गंभीर साहित्य ही नहीं है बल्कि हास्य का मनोरंजन और सिनेमा जगत के बारे में जानकारी देती सामग्रियां भी हैं। जिसमें मधुबाला, स्मिता पाटिल, अमिताभ बच्चन के अतिरिक्त सत्यजीत राय, विमल राय के जीवन के अनछुए पहलूओं को शामिल करते हुए संस्करण प्रस्तुत किए गए हैं। लोकप्रिय राजकमल प्रकाशन की पुस्तकें भी मेले में उपलब्ध हैं।