कोरोना का प्रकोप, बॉम्बे हाई कोर्ट के इतिहास में पहली बार हुआ ये काम

मुंबई: कोरोना वायरस ने भारत सहित पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है. भारत में लॉकडाउन लागू है और लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं. इस बीच कुछ लोग घर से ही दफ्तर का काम कर रहे हैं. अदालतों में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सुनवाई की जा रही है. शीर्ष अदालत के बाद गुरुवार को पहली बार बॉम्बे उच्च न्यायालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सुनवाई हुई.

बॉम्बे उच्च न्यायालय के जस्टिस गौतम पटेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दो घंटे तक सुनवाई की. इसके बाद उन्होंने सुनवाई के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म के उपयोग के अनुभव को लेकर वकीलों से फीडबैक मांगा. बॉम्बे उच्च न्यायालय में सुनवाई के दौरान जस्टिस गौतम पटेल, सभी एडवोकेट और कोर्ट असिस्टेंट अपने घर से वीडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से जुड़े.

ऑनलाइन सुनवाई शुरू होते ही सीनियर एडवोकेट नितिन प्रधान ने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मामले की सुनवाई का यह नया अनुभव है. सभी को म्यूट करके नियंत्रित करने का तरीका पसंद आया. इस दौरान न्यायमूर्ति गौतम पटेल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोर्ट रजिस्ट्री से सभी कागज़ातों को एक्सेस करना मुश्किल हो रहा है. कोर्ट रजिस्ट्री से न्यायमूर्ति तक दस्तावेजों को कैसे पहुंचाया जाए? बॉम्बे उच्च न्यायालय से पहले केरल उच्च न्यायालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई शुरू हो चुकी है.

फटाफट सामने आ सकते है कोरोना पॉजिटिव, इस मशीन को मिली मान्यता

कोरोना से बचने के लिए हर नियम को फॉलो कर रहे स्वास्थकर्मी

फैन के दान देने के सवाल पर भड़की यह एक्ट्रेस, कहा- 'चिंदी ज्ञान देना बंद करो'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -