अगस्ता मामले में लगा 3 करोड़ यूरो की रिश्वत देने का आरोप

नई दिल्ली : प्रवर्तन निदेशालय ने 3600 करोड़ रूपए के वीवीआईपी हेलीकाॅप्टर सौदे में धनशोधन को लेकर आरोप पत्र दायर कर दिया है। ब्रिटिश नागरिक और कथित बिचैलिए क्रिश्चियन मिशेल जेम्स और उनके भारतीय सहयोगियों की भूमिका से जुड़े हुए हैं। इस मामले में आरोप लगाए गए हैं कि अगस्ता वेस्टलैंड डील में मिशेल ओबामा को अगस्तावेस्टलैंड से 3 करोड़ यूरो मिले थे। इस दौरान यह कहा गया कि यह राशि कुछ नहीं बल्कि वास्तविक लेनदेन की आड़ में कंपनी द्वारा दी गई रिश्वत है, जो कंपनी के पक्ष में 12 हेलिकाॅप्टर्स का सौदा करवाने के लिए दी गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार न्यायालय द्वारा आरोपपत्र पर संज्ञान लेने की संभावना है। इसी दौरान ईडी और सीबीआई 3 बिचैलियों की जांच भी कर रही है। मिशेल के अतिरिक्त हश्के और कार्लों गेरोसा भी इस हेलिकाॅप्टर डील में शामिल हैं। इस दौरान यह भी कहा गया है तीन करोड़ यूरो की यह मद लेनदेन के नाम पर एक तरह की रिश्वत है जो कि कंपनी द्वारा दी गई है। दरअसल कंपनी के पक्ष में 12 हेलिकाॅप्टर्स का सौदा करवाने हेतु दी गई है।

एजेंसी से मिली जानकारी में यह बात सामने आई है कि न्यायालय के जल्द पूरक आरोपपत्र पर संज्ञान लेने की पूरी संभावना है। ईडी और सीबीआई 3 बिचैलियों की जांच में लगी है। इसमें मिशेल के अतिरिक्त जी हश्के और कार्लो गेरोसा भी सम्मिलित हैं। न्यायालय द्वारा गैर जमानती वारंट भी जारी कर दिया गया है। ऐसे में मिशेल के विरूद्ध रेड काॅर्नर नोटिस या फिर वैश्विक गिरफ्तारी वारंट भी अधिसूचित कर दिए गए हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -