6 हजार करोड़ के रूप में काले धन का पर्दाफाश

नई दिल्ली : काले धन को लेकर सरकार के द्वारा कई कदम उठाये जा रहे है और यह कोशिश की जा रही है कि ज्यादा से ज्यादा काला धन भारत में लाया जाए. जहाँ एक तरफ भारत इतने प्रयास कर रहा है वहीँ दूसरी तरफ यह बात भी सामने आ रही है कि कई कंपनियां मिलकर घोटाले करने में लगी हुई है. जी हाँ, हाल ही में एक निजी चैनल की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि करीब 59 कम्पनियों ने मिलकर 6 हजार करोड़ से भी ज्यादा बड़े घोटाले को अंजाम दिया है, साथ ही मामले में यह भी कहा जा रहा है कि इस सभी पैसों को दिल्ली स्थित एक सरकारी बैंक के द्वारा भारत से बाहर भेजा गया है.

इसके अलावा जानकारी में यह बात भी सामने आई है कि इस पैसों को काजू, चावल के साथ ही अन्य खाद्य सामग्री के साथ ही श्रृंगार सामग्री के आयात का बहाना बनाकर भेजा गया है. इसके तहत बैंक ऑफ़ बड़ोदा में 59 कम्पनियों के 59 खातों में नकद पैसा जमा करवाया जाता था. फिर इस जमा पैसे को विदेशो से सामान मंगवाए जाने के बहाने से डॉलर के रूप में बाहर भेजा जाता था.

सरकारी नियम कहते है कि यदि कोई बैंक अधिक मात्रा में डॉलर के माध्यम से पेमेंट करता है तो उसके दवारा पैसा भेजने वाली कम्पनी को यह कहा जाता है कि वह पैसा जिस कम्पनी को भेजा जाना है उसके बारे में पूरी जानकारी भी दी जाए और साथ ही लेटर ऑफ़ क्रेडिट भी उपलब्ध करवाया जाए. इस मामले में बैंक ऑफ बड़ौदा में यह भी कहा है कि मामले की जाँच की जा रही है और इससे अब तक कम्पनी को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है. जबकि सूत्रों का यह मानना है कि यह रकम काला धन भी हो सकती है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -