उत्तराखंड के खिलाफ भाजपा ने दिया हेलिकाॅप्टर सौदे से जवाब

नई दिल्ली। उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने को लेकर केंद्र सरकार को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले में आज विपक्ष ने संसद के दोनों सदनों में हंगामा मचा दिया। जहां लोकसभा में सदस्य वेल में आ गए वहीं राज्यसभा को स्थगित कर दिया गया। मगर इस मसले से बचने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने ढाल की तलाश कर ली है।

दरअसल भाजपा ने अगस्टा वेस्टलैंड हेलीकाॅप्टर सौदे का मसला सामे रखा। भाजपा की सांसद मीनाक्षी लेखी ने लोकसभा में इस मामले को चर्चा के लिए रखा और जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि इटली के न्यायालय ने इस घोटाले में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की भूमिका पर सवाल किए। उनका कहना था कि इटली की सरकार अप्रैल 2013 में भारत सरकार से दस्तावेज की मांग कर रही थी

मगर सरकार ने मार्च 2014 तक किसी तरह का जवाब नहीं दिया। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2010 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने वीवीआईपीज़ के लिए इटली की कंपनी फिनमेकैनिका से 3600 करोड़ रूपए में 12 हेलीकाॅप्टर खरीदने की बात की थी मगर बाद में घोटालों का आरोप लगा और यह मामला रद्द हो गया।                                                                            

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -