यूपी विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने कसी कमर, अपना दल और निषाद पार्टी भी आए साथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कमर कस ली है।  चुनावों को लेकर आज गठबंधन पर बड़ी बैठक हुई, जहां तय किया गया कि निषाद पार्टी का भाजपा में विलय नहीं होगा, बल्कि दोनों दल साथ चुनाव लड़गे, इसके साथ ही अनुप्रिया पटेल का अपना दल भी भाजपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने के लिए सहमत हैं। लखनऊ में केंद्रीय मंत्री और उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि भाजपा और निषाद पार्टी का गठबंधन है। हम 2022 का विधानसभा चुनाव पूरी ताकत के साथ मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अपना दल भी हमारे साथ है। मेरा विश्वास है कि भाजपा 2022 के चुनाव में प्रत्येक समाज को गहराई से साथ लेने में कामयाब होगी।

बता दें कि बीते दिनों निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को देखते हुए संकल्प यात्रा की शुरुआत की थी। यात्रा के दौरान उन्होंने दावा किया था कि वह भाजपा से 100 से अधिक सीटों की मांग करेंगे, हालांकि यह जानकारी नहीं मिल सकी है कि निषाद पार्टी की ओर से अब कितनी सीटों की डिमांड की जा रही है। उम्मीद जताई जा रही थी कि आज सीटों की घोषणा भी हो सकती है मगर ऐसा नहीं हुआ।

बता दें कि चुनाव प्रभारी बनने के बाद धर्मेंद्र प्रधान 22 सितंबर को भाजपा प्रदेश हेडक्वार्टर में पहुंचे थे। इस बैठक में उन्होंने स्पष्ट कहा कि चुनाव प्रभारी यहां सिर्फ मदद के लिए आए हैं। चुनाव जिताने का जिम्मा सीएम योगी, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य जैसे नेताओं का होगा। उन्हीं के नेतृत्व में यह चुनाव लड़े जाएंगे। प्रधान के मुताबिक, सूबे में कानून व्यवस्था में सुधार से लेकर कोरोना महामारी के प्रबंधन में योगी सरकार ने काफी अच्छा काम किया है।

यूपी चुनाव: योगी को हराने के लिए 'मस्जिद-मस्जिद' घूमेगी कांग्रेस, मुसलमानों से किए ये 16 वादे

बिना मास्क मॉल पहुंचे तेजप्रताप यादव, लगी लोगों की भीड़

रतन चक्रवर्ती हो सकते हैं त्रिपुरा विधानसभा के नए अध्यक्ष

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -