पंजाब में 'एकला चलो रे' की राह पर भाजपा, 24 साल बाद अकेले लड़ सकती है चुनाव

पंजाब में 'एकला चलो रे' की राह पर भाजपा, 24 साल बाद अकेले लड़ सकती है चुनाव
Share:

अमृतसर: किसान आंदोलन के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पहली दफा अपने दम पर पंजाब की सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है. 1996 में शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के साथ गठबंधन करने के बाद दोनों पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ती आई हैं और अब 24 साल पुराना गठबंधन टूटने के बाद भाजपा अकेली हो गई है. इस तरह से भाजपा को पूरे पंजाब में अपनी सियासी जमीन बढ़ाने का  मौका नजर आ रहा है. 

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरूण चुग ने कहा कि उनकी पार्टी ने 2022 में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में सभी 117 सीटों पर ताल ठोंकने की तैयारी आरंभ कर दी है. चुग ने कहा कि जमीनी स्तर पर भाजपा कार्यकर्ताओं को एकजुट करके राज्य के 23000 मतदान केंद्रों पर सांगठनिक ढांचा सशक्त बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा 19 नवंबर को पार्टी के दस जिला कार्यालयों का डिजिटल माध्यम से उद्घाटन करेंगे.

पंजाब की कुल 117 सीटों में से भाजपा अभी तक सिर्फ 23 सीटों पर चुनाव लड़ती आई है, किन्तु अकाली दल से अलग होने के बाद अब उसे पूरे राज्य में अपना सियासी आधार बढ़ाने का बढ़िया मौका मिल गया है. हालांकि, ऐसा नहीं है कि भाजपा कभी अकाली दल से अलग नहीं होना चाहती थी. ऐसा प्रयास भाजपा की प्रदेश इकाई की तरफ से कई दफा किए गए, किन्तु हर बार पार्टी हाईकमान के सियासी दखल के कारण समझौते होते रहे. हालांकि, अब बीजेपी के पास पंजाब में एक बड़ा मौका है कि सभी 117 सीटों पर राजनीतिक आधार बढ़ाया जा सके. 

गुपकार के जरिए कांग्रेस पर भड़के अमित शाह, कहा- क्या इस गैंग का समर्थन करते हैं सोनिया-राहुल ?

नितीश कुमार पर भड़के प्रशांत किशोर, कहा- थके हुए सीएम के लिए तैयार रहे बिहार

कोरोना: दिल्ली में फिर लग सकता है लॉकडाउन, सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार से मांगी अनुमति

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -