चुनावों के वक्त ही कांग्रेस को याद आतें है हिन्दू- बीजेपी

चुनावों के वक्त ही कांग्रेस को याद आतें है हिन्दू- बीजेपी

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सोमवार को कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधते हुए उन्हें दोहरे चरित्र का व्यक्ति बता दिया. सिंह ने अपने बयान में कहा कि, 'कांग्रेस का धर्म और संप्रदाय को लेकर चरित्र दोहरा रहा है. इनके लिए धर्म एक चुनावी हथकंडा है जिसे वह जब चाहते हैं अपने अनुसार बना लेते हैं. राहुल गांधी को तभी मंदिरों या अपने हिंदू होने की बात याद आती है जब कहीं पर चुनाव चल रहे होते हैं.' बता दें कि सिद्धार्थ नाथ सिंह का यह बयान दिग्विजय सिंह के उस बयान के पलटवार के रूप नमे आया है जिसमें उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के संघ के कार्यक्रम में जाने को सही ठहराया था.

इस दौरान सिंह ने दिग्विजय सिंह को भी आड़े हाथों लेते हुए उनके हिन्दू आतंकवाद वाले बयान पर कहा कि, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है जब कांग्रेस की सरकार थी तब मनमोहन सिंह, पी चिदंबरम , सोनिया गांधी ने यह निर्णय लिया कि किसी न किसी तरह हिंदुओं पर आतंकवाद को आतंकवाद के साथ जोड़ दिया जाए. उन्होंने कहा कि कि हिन्दू आतंकवाद का सारा मामला अब सामने आ चूका है. सिंह ने कहा कि, कांग्रेस के लोग एक तरह से देश की जनता को भ्रमित करने का काम कर रहे है. राहुल गांधी पर निजी हमला बोलते हुए सिंह ने कहा कि जब चुनाव आता है तब उन्हें जनेऊ और मंदिर नजर आने लगता है. इसके पहले वो इसे भूले रहते हैं और ना ही चुनाव बाद उन्हें यह सब याद आता है.

वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बयान पर सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि, 'दिग्विजय गिरगिट की तरह रंग बदलते है. वह देख रहे है आने वाले चुनाव में हिंदुओं के सहारे बिना चुनाव नही जीत पाएँगे क्योंकि भारत मे 80%हिन्दू है इसलिये आरएसएस का सहारा लेना चाहते है.' बता दें कि सोमवार को दिग्विजय सिंह ने एक बयान में कहा कि अगर उन्हें संघ के कार्यक्रम में बुलाया जाएगा तो वह भी इसमें शिरकत करना चाहेंगे.

 

सऊदी अरब की असील अल-हमद ने रचा इतिहास

शिवसेना का पीएम मोदी से सवाल- क्या किसानों की आत्महत्या ही है 'अच्छे दिन'?

मोदी का ध्यान विदेश नीति पर ज्यादा देश पर कम: डॉ प्रणव पंड्या