टीपू सुल्तान जयंती को लेकर सियासत तेज़, बीजेपी ने कई इलाकों में किया विरोध प्रदर्शन

Nov 10 2018 10:51 AM
टीपू सुल्तान जयंती को लेकर सियासत तेज़, बीजेपी ने कई इलाकों में किया विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने टीपू सुल्तान जयंती पर विरोध जताते हुए कहा है कि एक अत्‍याचारी के जन्‍मदिन को मनाया जाना गैरजरूरी है. विरोध प्रदर्शन में बीजेपी के अलावा कोडावा नेशनल काउंसिल भी शामिल है. विरोध प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे बीजेपी जिला सचिव सज्‍जल कृष्‍णन ने कहा कि प्रदेश सरकार टीपू जयंती के नाम पर जनता के पैसे को बर्बाद कर रही है. 

भारत सरकार ने किया ऐलान, 6 एयरपोर्ट को देगी लीज पर

उन्होंने तर्क देते हुए कहा कि टीपू कोई योद्धा नहीं था, उसने ढेर सारे हिंदुओं का कत्‍ल किया था और मंदिरों पर हमले पर भी किए थे. ऐसे लोगों को महिमामंडित क्‍यों किया जा रहा है? ये वोट बैंक की राजनीति का हिस्सा है. उल्लेखनीय है कि टीपू सुल्तान 18वीं सदी में मैसूर साम्राज्य के शासक थे. कर्नाटक सरकार ने हर साल की तरह इस साल भी टीपू सुल्‍तान की जयंती मनाने का ऐलान किया है, जबकि बीजेपी और श्रीराम सेना जैसे संगठन इस कार्यक्रम का विरोध कर रही है. 

केंद्र सरकार करेगी इलाहाबाद बैंक की 3,054 करोड़ रुपये देकर आर्थिक सहायता

आपको बता दें कि जेडीएस-कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार के मुखिया एचडी कुमारस्वामी ने पिछले सप्ताह ही साफ कर दिया था कि पिछली कांग्रेस सरकार की नीति को बरकरार रखते हुए 10 नवंबर को 'टीपू जयंती' मनाई जाएगी. इसके बाद ही बीजेपी ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था. पार्टी ने सरकार से जश्न समारोह को रद्द करने की अपील करते हुए बेंगलुरु, मैसुरु और कोडागू में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन की शुरुआत कर दी है. 

ख़बरें और भी:-

फोर्टिस को बीच मझधार ने छोड़, सीईओ भवदीप सिंह ने दिया इस्तीफा

एलेन मस्क के इस्तीफे के बाद रॉबिन डेनहोम टेस्ला की नई चेयरपर्सन नियुक्त

आज फिर इतने घटे पेट्रोल- डीजल के दाम, जाने क्या है भाव

?