+

BJP ने कैसे पश्चिम बंगाल में बिगाड़ा गठबंधन और तृणमूल का खेल ?

BJP ने कैसे पश्चिम बंगाल में बिगाड़ा गठबंधन और तृणमूल का खेल ?

कोलकाता : कई बार कई पार्टियां चुनावी मैदान में केवल इसलिए उतर जाती है, ताकि विपक्षियों को मिलने वाले वोटों को तितर-बितर कर सकें। बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में काफी उम्दा प्रदर्शन किया है। कहा जा रहा है कि बीजेपी ने 70 से अधिक सीटों पर विपक्षी कांग्रेस और वाम दल के गठजोड़ के समीकरण को बिगाड़ने का काम किया है।

2014 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी को पश्चिम बंगाल में 17.5 फीसदी मत मिले थे और इस बार के विधाऩसभा चुनाव में बीजेपी को 10.2 फीसदी मतदना मिले है। 2011 में हुए चुनाव में बीजेपी को 19.5 लाख मतदाताओं ने वोट दिया था जब कि इस बार 56 लाख मतदाताओं ने बीजेपी को वोट दिया।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने बताया कि 2014 में हुए लोकसभा में नरेंद्र मोदी की लहर के कारण 17 फीसदी मत हासिल हुए। बंगाल में हमारा कोई सांगठनिक आधार नहीं है। उन्होने कहा कि इस दौरान सबसे अच्छी बात ये रही कि हमने अधिकतम सीटों परअपनी मौजूदगी दर्ज कराई है और सात सीटों के साथ हम दूसरे स्थान पर रहे है।

इस बार बीजेपी ने 66 सीटों पर 30-40 हजार वोट हासिल किए है। 16 सीटों पर 30-40 हजार और 6 सीटों पर 50-60 हजार वोट मिले है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि हमने भले ही ज्यादा सीटें न जीती हो लेकिन हमने गठबंध के लिए और कई सीटों पर तृणमूल के लिए खेल जरुर बिगाड़ दिया है।