दिल्ली में सरकारी जमीन पर तेजी से बढ़ रही मस्जिदें, आप और कांग्रेस कर रही नज़रअंदाज़

दिल्ली में सरकारी जमीन पर तेजी से बढ़ रही मस्जिदें, आप और कांग्रेस कर रही नज़रअंदाज़

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सड़कों और सरकारी जमीन पर मस्जिदों के ‘‘तेजी से बढ़ने का’’ दावा करने के एक दिन बाद पश्चिमी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने बुधवार को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) पर वोट बैंक की सियासत के लिए इस मुद्दे की अनदेखी करने का आरोप लगाया है।

सांसद प्रवेश सचिव सिंह ने कहा है कि उनके पास अतिक्रमण के सबूत हैं। उन्होंने दावा किया है कि शहर में सरकारी जमीन या सड़क किनारे लगभग सौ मस्जिदें हैं। इस बीच कांग्रेस और आप के नेताओं ने भाजपा पर पलटवार करते हुए उस पर दिल्ली विधानसभा चुनावों में सियासी फायदे के लिए इस मुद्दे का ‘‘सांप्रदायीकरण’’ करने का आरोप लगाया है। वर्मा ने दावा किया है कि उनके संसदीय क्षेत्र समेत दिल्ली के कई हिस्सों में सरकारी जमीन और सड़कों पर मस्जिदें ‘‘तेजी से बढ़’’ रही हैं।

वर्मा ने कहा है कि इससे यातायात ‘‘प्रभावित’’ हो रहा है और लोगों को भी ‘‘असुविधा’’ हो रही है। सांसद ने 18 जून को उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखकर इस सम्बन्ध में ‘‘तत्काल कार्रवाई’’ करने का अनुरोध किया है। उन्होंने उपराज्यपाल को लिखे पत्र में कहा है कि, ‘‘’मैं पूरी दिल्ली और विशेषकर मेरे संसदीय क्षेत्र (पश्चिम दिल्ली) के कुछ खास इलाकों में सरकारी जमीन, सड़कों तथा एकांत स्थानों पर मस्जिदों के तेजी से बढ़ने के एक विशेष तरीके के रुख से अवगत कराना चाहता हूं।’’ इसके साथ ही वर्मा ने इस सम्बन्ध में उपराज्यपाल से तत्काल कार्यवाही करने की मांग भी की है।

बाबा रामदेव ने बताई योग की महिमा, नेहरू इंदिरा के लिए कही ये बात

शिवसेना का 53वां स्थापना दिवस, महाराष्ट्र के अगले सीएम को लेकर सियासत तेज

कांग्रेस से गठबंधन पर भावुक हुए कुमारस्वामी, कहा- 'हर रोज दर्द से गुजर रहा हूं'