BJP के अंदरखाने में लगी सेंध, नीतीश से मिले BJP विधायक

पटना : बिहार में अभी वोटिंग शुरू भी नहीं हुई कि राजनीति के अंदरखाने में भीतरघात के प्रयास प्रारंभ हो गए हैं। यूं तो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में सीटों को लेकर सामने आई असंतुष्टि पर माना जा रहा था कि यह गठबंधन टूट जाएगा लेकिन अब जब गठबंधन संभल गया है तो भाजपा भीतरघात से प्रभावित नज़र आ रही है। ऐसे में टिकट न मिलने वाले विधायक विरोध पर आमादा हो गए हैं। यह बात सामने आ रहा है कि भाजपा के सीटिंग विधायक अमन पासवान ने बिहार के मौजूदा मुख्यमंत्री नीतिश से भेंट की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा की पहली सूची जारी की गई। सूची में 43 लोगों का नाम जारी कर दिया गया। पांच ऐसे विधायकों को लेकर चर्चा की गई जो कि मौजूदा विधायक हैं। ऐसे में इस पर विरोध जताया गया। कहा गया कि मौजूदा विधायकों के नाम क्यों काटे गए। कहा जा रहा है कि कुछ कद्दावर नेता ऐसे रहे जो विधायक होने के बाद भी टिकट के पात्र नहीं माने गए। आखिर ऐसा क्यों किया गया इस पर सवाल उठे हैं।

मामले में यह भी कहा गया है कि तेघड़ा से ललन कुमार, कटोरिया से सोनेलाल हेम्ब्रम, रजौली से कन्हैया रजवार, पीरपैंती से अमन कुमार और गुरूआ से सुरेंद्र प्रसार सिन्हा को टिकट नहीं दिया गया। मामले में यह बात सामने आई कि सरायरंजन से रंजीत निर्गुणी, मटिहानी से सर्वेश कुमार सिंह, परबत्ता से रामानुज को टिकट दिया गया। अन्य नेताओं को भी टिकट दिए गए जिनमें रामगढ़ के अशोक सिंह, गोह से मनोह शर्मा आदि को टिकट दिया गया। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

- Sponsored Advert -