तीन तलाक़ के बाद अब निकाह हलाला से मिलेगी मुक्ति, भाजपा ने किया ख़त्म करने का वादा

तीन तलाक़ के बाद अब निकाह हलाला से मिलेगी मुक्ति, भाजपा ने किया ख़त्म करने का वादा

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने संकल्प पत्र में कई बड़ी घोषणा की है। इनमें कई वादे ऐसे भी हैं जिनपर वर्तमान समय में निरंतर चर्चा चल रही है। भाजपा ने वादा किया है कि अगर वे फिर से सत्ता में लौटती है तो, निकाह हलाला की प्रथा पर पाबन्दी लगाने के लिए कानून लाएगी। पार्टी पहले ही तीन तलाक को समाप्त करने के लिए विधेयक ला चुकी है, हालांकि ये अभी तक राज्यसभा से पारित नहीं हो पाया है।

अपनी पार्टी को नहीं, बल्कि समाजवादी पार्टी को वोट देंगे शिवपाल यादव, लेकिन क्यों ?

पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक प्रथा को पूरी तरह समाप्त करने की बात करती रही है। किन्तु इस बार पार्टी की तरफ से निकाह हलाला की बात भी की गई है। अपने घोषणापत्र में भाजपा ने लिखा है कि, ‘हमने महिलाओं के संपूर्ण विकास और लैंगिक समानता को सुनिश्चित करने के लिए कड़ा कदम उठाया है। हम तीन तलाक और निकाह हलाला जैसी प्रथाओं पर रोक लगाने के लिए कानून लाएंगे’।

सचिन पायलट ने पीएम मोदी पर किया हमला, कहा- सवाल पूछने पर कह देते हैं राष्ट्रद्रोही

उल्लेखनीय है कि तीन तलाक के मुद्दे पर कई मुस्लिम संगठन और विपक्षी पार्टियां भाजपा को घेरती आई हैं। भाजपा ने अपने प्रस्तावित बिल में तीन तलाक देने वाले पति को सजा दिलाने की बात कही थी, जबकि कई अन्य दलों ने इस शर्त का विरोध किया था। हालांकि, लोकसभा में तीन तलाक बिल पास हो चुका है, जहां पर भाजपा के पास बहुमत था। किन्तु राज्यसभा में ये बिल पास नहीं हो पाया था, क्योंकि राजयसभा में सरकार के पास बहुमत नहीं था। राज्यसभा में कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने कई क्लॉज़ पर सवाल खड़े किए थे।

खबरें और भी:-

घोषणापत्र पर बोले पीएम, कहा- राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा, अन्त्योदय हमारा दर्शन और सुशासन हमारा मंत्र

सहारनपुर में होने वाली राहुल और प्रियंका की रैली पर मौसम की मार

लोकसभा चुनाव: राम मंदिर, पेंशन, किसान निधि, 35 A, भाजपा के घोषणापत्र में सबके लिए कुछ न कुछ