सिन्हा के शिष्ट मण्डल से भाजपा ने किया किनारा

नई दिल्ली : यशवंत सिन्हा के नेतृत्व में कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी से मिलने गए शिष्ट मण्डल से भाजपा ने किनारा करते हुए मंगलवार को स्पष्ट किया कि पार्टी का इससे कुछ लेनादेना नहीं है. इस मामले में भाजपा के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि यह भाजपा का शिष्टमंडल नहीं है. भाजपा का इससे कुछ भी लेनादेना नहीं है.     

शर्मा ने कहा कि मीडिया के एक वर्ग में ऐसी खबरें आई कि यह भाजपा का शिष्टमंडल था जो पूरी तरह से गलत है. बता दें कि घाटी में अशांत स्थिति जारी रहने के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने गिलानी से मुलाकात की. हालाँकि सिन्हा ने भी कहा है कि उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर यह पहल की थी.

उल्लेखनीय है कि यशवंत सिन्हा के नेतृत्व वाले शिष्टमंडल में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष वजाहत हबीबुल्ला, पूर्व एयर वाइस मार्शल कपिल काक, पत्रकार भारत भूषण और सेंटर फार डायलाग एंड रिकंसिलियेसन की सुशोभा बर्वे शामिल हैं. शिष्टमंडल ने हैदरपोरा इलाका स्थित गिलानी के आवास पर उनसे मुलाकात की. इनकी अन्य अलगाववादी नेताओं से मिलने की भी योजना है. यहां यह खुलासा करना उचित होगा कि गिलानी के साथ बैठक से पहले सिन्हा ने संवाददाताओं को बताया कि वे यहां किसी शिष्टमंडल के रूप में नहीं आए हैं.

गिलानी का दोगला रूप, कहा : मैं भारतीय नहीं हूँ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -