ज्ञानवापी केस: ओवैसी के बयान पर भड़के जिलानी, बोले- एक समुदाय को भड़का रहे AIMIM चीफ

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रवक्ता सैयद यासर जिलानी ने वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का विरोध करने के लिए AIMIM चीफ और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि ओवैसी एक समुदाय को भड़काने और विक्टिम कार्ड खेलने का प्रयास कर रहे हैं।

मीडिया से बात करते हुए जिलानी ने कहा कि, 'असदुद्दीन ओवैसी शैतानों का काम कर रहे हैं। ओवैसी को भारत के संविधान के मुताबिक जो भी काम किया जाता है उसका विरोध करने के लिए जाना जाता है। वह 1991 के अधिनियम के अनुच्छेद 6 के संबंध में बात करते हैं। मगर, वह अनुच्छेद 4 पर चर्चा नहीं करते हैं, जो कि पूजा के लिए है। असदुद्दीन ओवैसी का एकमात्र काम किसी भी अच्छे काम में हर प्रकार से बाधा डालना है।' भाजपा नेता जिलानी ने कहा कि तथ्यों को कोर्ट में पेश किया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि, 'जनता को बताएं कि क्या तथ्य सामने आते हैं। क्या ओवैसी को भारत के संविधान में विश्वास नहीं है ? यदि आपको विश्वास है, तो आपको प्रतीक्षा करनी चाहिए। मगर, असदुद्दीन ओवैसी लगातार एक वर्ग, एक समुदाय के लोगों को डराने-धमकाने का प्रयास कर रहे हैं। विक्टिम कार्ड खेल रहे हैं।' ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में शिवलिंग मिलने के दावों के बारे में सवाल किए जाने पर जिलानी ने कहा कि, 'भारत के लोग कोर्ट पर विश्वास करते हैं। मेरा मानना ​​है कि कोर्ट द्वारा सर्वे रिपोर्ट पर उचित विचार किया जाएगा। जो भी दूसरी तरफ हैं उनके पास भी सर्वोच्च न्यायालय जाने का अधिकार है। हमारे संविधान ने सभी को समान अधिकार दिए हैं।'

भगवंत मान के दिल्ली दौरे ने बढ़ाया सियासी तापमान, राज्यसभा चुनाव और पंजाब AAP प्रमुख को लेकर हुई चर्चा

यूपी के नए मरदसों को अब नहीं मिलेगा अनुदान, योगी सरकार की कैबिनेट मीटिंग में हुआ फैसला

कांग्रेस नेता चिदंबरम का करीबी गिरफ्तार, चीनियों को वीज़ा दिलवाने के लिए खाई थी रिश्वत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -